बाज़ार का ये हाल है : शैल चतुर्वेदी द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Bazaar Ka Ye Haal Hai : by Shail Chaturvedi Hindi PDF Book

बाज़ार का ये हाल है : शैल चतुर्वेदी द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Bazaar Ka Ye Haal Hai : by Shail Chaturvedi Hindi PDF Book
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name बाज़ार का ये हाल है / Bazaar Ka Ye Haal Hai
Author
Category, ,
Pages 98
Quality Good
Size 1 MB
Download Status Available

बाज़ार का ये हाल है का संछिप्त विवरण : हमारे लाख मना करने पर भी हमारे घर के चक्कर कट्टा हुआ मिल गया भ्रष्टाचार हमने डाटा नहीं मानोगे यार तो बोला चलिए आपने हमे यार तो कहा अब आगे का काम हम संभाल लेंगे आप हमको पाल लीजिये आपके बाल बच्चो को हम पाल लेंगे हमने कहा भ्रष्टाचार जी किसी नेता या अफसर के बच्चे का पालना…….

Bazaar Ka Ye Haal Hai PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Hare laakh mana karane par bhihamaare ghar ke chakkar katta hua mil gaya bhrashtaachaar hamane daata nahin maanoge yaar to bola chaliyeaapane hame yaar to kaha ab aage ka kaam ham sambhaal lenge aap hamako paal leejiye aapake baal bachcho ko ham paal lenge hamane kaha bhrashtaachaar jee kisee neta ya aphasar ke bachche ka paalana………….
Short Description of Bazaar Ka Ye Haal Hai PDF Book : Even after refusing our lakhs, our house has got stuck in the corruption. We will not accept the data. So tell me. Then you said, ‘I am now going to take care of the work ahead. You keep us, we will take care of you. We will take care of your children.’ We said corruption The care of a leader or a child…………
“अज्ञानता और विचारहीनता मानवता के विनाश के दो सबसे बड़े कारण हैं।” – जॉन टिलोटसन
“Ignorance and inconsideration are the two great causes of the ruin of mankind.” – John Tillotson

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment