घर की लाज : श्री रामसुन्दर श्रीवास्तव द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – कहानी | Ghar Ki Laz : by Shri Ram Sundar Shrivastav Hindi PDF Book – Story (Kahani)

घर की लाज : श्री रामसुन्दर श्रीवास्तव द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - कहानी | Ghar Ki Laz : by Shri Ram Sundar Shrivastav Hindi PDF Book - Story (Kahani)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name घर की लाज / Ghar Ki Laz
Author
Category, , , , ,
Language
Pages 278
Quality Good
Size 11 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : एक नारी जीवन की पवित्र प्रतिभा, जिसको देवी का प्रसाद कहते हैं। वह ज्योत्सना की भाँति सुशिक्षित नहीं थी, उसे स्वछन्दता का अमर वरदान नहीं मिला था और न उसे यही मालूम था कि भारतीय नारी भी स्वतन्त्र रह सकती है। उसे विज्ञान दर्शन का ज्ञान न था साहित्य के आनन्द से कोसों दूर थी, फिर भी उसके पास एक रल्न था जो उसके हृदय को गौरव के साथ प्रकाशित का रहा था……….

Pustak Ka Vivaran : Ek Nari Jeevan ki Pavitra pratibha, jisako devi ka prasad kahate hain. Vah jyotsana ki bhanti Sushikshit nahin thee, use svachhandata ka amar vardan nahin mila tha aur na use yahi Maloom tha ki bharatiya Nari bhi Svatantra rah sakati hai. Use Vigyan darshan ka Gyan na tha sahity ke Aanand se koson door thee, phir bhi usake pas ek Ratn tha jo usake hrday ko Gaurav ke sath prakashit ka raha tha………

Description about eBook : The sacred talent of a woman’s life, which is called Prasad of the Goddess. She was not well educated like Jyotsna, she did not get the immortal boon of freedom and neither did she know that Indian woman can also remain independent. He had no knowledge of science philosophy and was far from the joy of literature, yet he had a gem which illuminated his heart with pride ………

“क्रोध एक तेजाब है जो उस बर्तन का अधिक अनिष्ट कर सकता है जिसमें वह भरा होता है न कि उसका जिस पर वह डाला जाता है।” मार्क ट्वेन
“Anger is an acid that can do more harm to the vessel in which it is stored than to anything on which it is poured.” Mark Twain

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment