गुलाम और शेर : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Gulam Aur Sher : Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

Book Nameगुलाम और शेर / Gulam Aur Sher
Author
Category, ,
Language
Pages 19
Quality Good
Size 2.2 MB
Download Status Available

गुलाम और शेर का संछिप्त विवरण : वी जंगल में भटकता रहा, भटकता रहा। अंत मेँ वी थक गया और भूख से बहुत कमजीर हो गया। जंगल में एक उदास शेर बहुत जोर जोर से कराह रहा था। एज्ड्रोक्लीज़, शेर को देखते ही डर से काँपने लगा और तेजी से भागने लगा लेकिन शेर ने उसका पीछा नहीं किया। शेर बहुत दुखी होकर और जोर से रोने लगा। शेर को देखकर एज्ड्रोक्लीज़ मुड़ा……..

Gulam Aur Sher PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Vo Jangal mein Bhatakata raha, bhatakata raha. Ant mein vo thak gaya aur bhookh se bahut kamajor ho gaya. Jangal mein ek udas sher bahut jor jor se karah raha tha. Androcleese, sher ko dekhate hee dar se kanpane laga aur tejee se bhagane laga lekin sher ne usaka peechha nahin kiya. Sher bahut dukhi hokar aur jor se rone laga. Sher ko dekhakar Androcleese muda………….
Short Description of Gulam Aur Sher PDF Book : He wandered in the forest, wandered. In the end he became tired and became very weak from hunger. A sad lion in the forest was moaning very loudly. Androclies trembled at the sight of the lion and fled quickly, but the lion did not follow him. The lion became very sad and wept loudly. Seeing the lion, Androklias turned…………
“सच्चा मित्र वही होता है जो उस समय आपका साथ देता है जब सारी दुनिया साथ छोड़ देती है।” वाल्टर विन्चेल
“A real friend is one who walks in when the rest of the world walks out.” Walter Winchell

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment