हिसनुल मुस्लिम- कुरआन और हदीस की दुआ मुफ्त हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक | Hisnul Muslim- Kuraan Aur Hadees Ki Dua Hindi Book Download

पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name हिसनुल मुस्लिम- कुरआन और हदीस की दुआ / Hisnul Muslim- Kuraan Aur Hadees Ki Dua
Category, ,
Language
Pages 213
Quality Good
Size 5.5 MB
Download Status Available

हिसनुल मुस्लिम- कुरआन और हदीस की दुआ पुस्तक का कुछ अंश : करता है तो मैं उसे अपने हृदय में स्मरण करता हूँ और अगर वह किसी सभा (जमाअत) में मुझे स्मरण करता है तो मैं उसे ऐसी सभा (जमाअत) में स्मरण करता हूँ जो उस से बेहतर है और अगर वह एक बालिइत मेरे करीब आये तो मैं एक हाथ उस के करीब आता हूँ और अगर वह एक हाथ करीब आये……..

Hisnul Muslim- Kuraan Aur Hadees Ki Dua PDF Pustak in Hindi Ka Kuch Ansh : Karta hai to main use apane hriday mein smaran karta hoon aur agar vah kisi sabha (jamat) mein mujhe smaran karata hai to main use aise sabha (jamaat) mein smaran karata hoon jo us se behatar hai aur agar vah ek baliit mere kareeb aaye to main ek hath us ke karib aata hoon aur agar vah ek hath karib aaye……..
Short Passage of Hisnul Muslim- Kuraan Aur Hadees Ki Dua Hindi PDF Book : If he remembers me in his heart, and if he remembers me in a gathering, I remember him in a gathering that is better than that, and if he comes close to me as a Baalīt. I come a hand closer to him and if he comes a hand closer…
“अगर हम अपने सामर्थ्यानुसार कर्म करें, तो हम अपने आपको अचंभित कर डालेंगें।” ‐ थॉमस एडिसन
“If we did all the things we are capable of, we would literally astound ourselves” ‐ Thomas Edison

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment