कैराना : कल और आज मुफ्त हिंदी पीडीएफ पुस्तक | Kairana : Kal Aur Aaj Free Hindi PDF Book

Author
Category, ,
Language
पुस्तक का डाउनलोड लिंक नीचे हरी पट्टी पर दिया गया है|
“विषम परिस्थितियों के कठोर प्रहारों से ही चरित्र का निर्माण होता है। ” – आरनॉल्ड ग्लासौ
“It’s only by the hard blows of adverse fortune that character is tooled.” – Arnold Glasow

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

कैराना : कल और आज  मुफ्त हिंदी पीडीएफ पुस्तक | Kairana : Kal Aur Aaj Free Hindi PDF Book

( Download Link Given Below / डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया हैं )
Kairana-Kal-Aur-Aaj-कैराना-कल-और-आज

पुस्तक का नाम / Name of Book : कैराना /  Kairana

पुस्तक के लेखक / Author of Book : मौ. उमर कैरानवी / Mohd. Umar Kairanvi

पुस्तक की भाषा / Language of Book : हिंदी / Hindi

पुस्तक का आकर / Size of Ebook : 1 MB

कुल पन्ने / Total pages in ebook : 33

पुस्तक डाउनलोड स्थिति / Ebook Downloading Status  : Best

(Report this in comment if you are facing any issue in downloading / कृपया कमेंट के माध्यम से हमें पुस्तक के डाउनलोड ना होने की स्थिति से अवगत कराते रहें )

पुस्तक का विवरण : कैराना जो कभी कर्ण की राजधानी थी मुजफ्फरनगर से करीब 50 कि. मी. पश्चिम में हरियाणा सीमा से सता यमुना नदी के पास करीब 90,000 की आबादी वाला यह क़स्बा कैराना प्राचीन काल में कर्णपुरी के नाम से विख्यात था जो बाद में बिगड़कर किराना नाम से जाना गया और फिर किराना से कैराना में परिवर्तित हो गया| कैराना से दक्षिण में ही बसे तीतरवाडा गाँव में एक तीतर खान पठान रहता था जिसके जुल्म से लोग काफी तंग आ चुके थे | बताते हैं की इस क्षेत्र में उस समय होने वाली शादी के बाद दुल्हे द्वारा यहाँ से गुजरने वाली दुल्हन की डोली को तीतर खान एक रात अपने पास रखता था………….

 अन्य ऐतिहासिक के लिए यहाँ दबाइए-  “हिंदी ऐतिहासिक पुस्तक”

Description about eBook : Kairana was once the capital of Kairana in Muzaffarnagar that about 50. K.M. Haryana border in the west, with a population of 90,000 near the Yamuna incumbent Kairana town in ancient times it was known as Karnpuri worsened later known Kirana from kirana then changed Kairana. Kairana Titarvada village nestled in the south was a partridge Khan Pathan oppression which people were fed up enough. Points out in this area by the time the groom after the wedding the bride’s palanquin passing through here one night, keeping the mine was pheasant…………….

To read other Historical Books click here- Hindi Historical Books”


सभी हिंदी पुस्तकें ( Free Hindi Books ) यहाँ देखें



इस पुस्तक को दुसरो तक पहुचाएं 

श्रेणियो अनुसार हिंदी पुस्तके यहाँ देखें 

One Quotation / एक उद्धरण
“कभी-कभी आपकी खुशी आपकी मुस्कुराहट का राज़ होती है, लेकिन कभी-कभी आपकी मुस्कुराहट भी आपकी खुशी का राज़ हो सकती है।”
– थीच न्हाट हान्ह


——————————–
“Sometimes your joy is the source of your smile, but sometimes your smile can be the source of your joy.”
– Thich Nhat Hanh

Leave a Comment