महाभारत भाषा : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – धार्मिक | Mahabharat Bhasha : Hindi PDF Book – Religious (Dharmik)

महाभारत भाषा : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - धार्मिक | Mahabharat Bhasha : Hindi PDF Book - Religious (Dharmik)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name महाभारत भाषा / Mahabharat Bhasha
Author
Category, , , ,
Pages 1404
Quality Good
Size 147 MB
Download Status Available

महाभारत भाषा का संछिप्त विवरण : सूके चित्त की पवित्रता के लिए उसपर कृपा करके जप दानादिक वर्णन किये जहाँ पर बड़े भारी लाभ और बैराग्य उदय होने के निमित्त कौरवों का नाश वर्णन किया है अब इस पर में तीन आख्यानों से वेदान्त विद्या का वर्णन करते है वह आख्यान तह है प्रथम सम्बन्ध दूसरे श्रीकृष्ण और युधिष्ठर की वार्तालाप तीसरे श्रीकृष्ण अर्जुन का प्रश्नोत्तर इनमे से प्रथम में काशीजी के मध्य ……..

Mahabharat Bhasha PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Sooke chitt kee Pavitrata ke lie usapar krpa karake jap Danadik varnan kiye jahan par bade bhari labh aur bairagy uday hone ke nimitt kauravon ka nash varnan kiya hai ab is par mein teen aakhyanon se vedant vidya ka varnan karate hai vah aakhyan tah hai pratham sambandh doosare shreekrshn aur yudhishthara kee vartalap teesare shreekrshn arjun ka prashnottar iname se pratham mein kashijee ke madhy…………
Short Description of Mahabharat Bhasha PDF Book : For the purity of the mind, he chanted it and chanted Danadik, where he has described the destruction of the Kauravas for the great benefits and the rise of the recluse. Conversation of Sri Krishna and Yudhishthira between Kashi in the first one of the third Sri Krishna Arjuna…………
“चाहे वे कितने ही प्रतिभाशाली क्यों न हो, अपने आपको प्रेरित करने में असमर्थ लोगों को औसत परिणामों से ही संतुष्ट होना पड़ता है।” एंड्रू कार्नेगी
“People who are unable to motivate themselves must be content with mediocrity, no matter how impressive their other talents.” Andrew Carnegie

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment