नए घर में गड़बड़ी : लेना आस्क द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Naye Ghar Mein Gadbadi : by Lene Ask Hindi PDF Book – Children’s Books (Bachchon Ki Pustak)

नए घर में गड़बड़ी : लेना आस्क द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - बच्चों की पुस्तक | Naye Ghar Mein Gadbadi : by Lene Ask Hindi PDF Book - Children's Books (Bachchon Ki Pustak)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name नए घर में गड़बड़ी / Naye Ghar Mein Gadbadi
Author
Category, ,
Language
Pages 28
Quality Good
Size 3 MB
Download Status Available

नए घर में गड़बड़ी का संछिप्त विवरण : कहाँ बैठी माताजी को लगा, पापा से कोई भूल हुई है। वे पिछले 53 साल से वहाँ रह रही हैं और घर बदलने का उनका कोई इरादा भी नहीं है। कभी-कभी, शाम को अँधेरे में अकेला होने पर, वे घर का दरवाज़ा खोल लेती हैं। इससे उन्हें अच्छा लगता है। तभी शायद पापा से गलती हुई। जब तक वे लौटते हैं, माँ और संजू ने मिलकर एक तम्बू लगा लिया है……..

Naye Ghar Mein Gadbadi PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Kahan Baithi Mataji ko laga, Papa se koi bhool huyi hai. Ve pichhale 53 sal se vahan rah rahi hain aur ghar badalane ka unaka koi Irada bhi nahin hai. Kabhi-kabhi, sham ko andhere mein akela hone par, ve ghar ka darvaza khol leti hain. Isase unhen achchha lagata hai. Tabhi shayad Papa se Galati huyi. Jab tak ve lautate hain, man aur sanju ne Milkar ek tamboo laga liya hai………
Short Description of Naye Ghar Mein Gadbadi PDF Book : Where did the mother sitting, felt that someone had made a mistake with her father. She has been living there for the last 53 years and has no intention of changing the house. Sometimes, being alone in the dark in the evening, she opens the door of the house. This makes them feel good. That’s why Papa probably made a mistake. By the time they return, Mother and Sanju have set up a tent together ………
“अपने कार्य की योजना बनाएं तथा अपनी योजना पर कार्य करें।” –नेपोलियन हिल
“Plan your work and work your plan.” – Napoleon Hill

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment