पंकज और पानी : यायावर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – उपन्यास | Pankaj Aur Pani : by Yayavar Hindi PDF Book – Novel (Upanyas)

पंकज और पानी : यायावर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - उपन्यास | Pankaj Aur Pani : by Yayavar Hindi PDF Book - Novel (Upanyas)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name पंकज और पानी / Pankaj Aur Pani
Author
Category, , , ,
Language
Pages 146
Quality Good
Size 4 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : और फिर रात को उसने बह दुःस्वप्र देखा था। एक गलित-विगलित युद्ध उसको अपने आलिंगन में आबद्ध करने के लिए आतुर हो रहा था । पान की पीक से सड़े हुए दाँतों वाला मुख मुस्करा कर उसके अपने मुख का चुम्बन करना चाह रहा था । रेणु, ने उसको पहचान लिया था। वहू था वही तारा- पद मित्तिर। पड़ोस के मित्तिर महाशय ! चीत्कार करके जाग उठी थी रेणु । बड़ी भाभी………..

Pustak Ka Vivaran : Aur phir Rat ko usane bah duhsvapn dekha tha. Ek galit-vigalit yuddh usako apane aalingan mein Aabaddh karane ke liye aatur ho raha tha . Pan ki peek se sade huye danton vala mukh muskara kar usake apane mukh ka chumban karana chah raha tha . Renu, ne usako pahchan liya tha. Vahu tha vahi tara- pad mittira. Pados ke mittira mahashay ! Cheetkar karake jag uthi thee renu . Badi bhabhi………..

Description about eBook : And then he had a nightmare at night. A foul-mouthed war was taking place to bind him into his embrace. The face of paan with rotten teeth was smiling and wanted to kiss his mouth. Renu recognized him. That was the same star – Pad Mittir. Mister Mittir of the neighborhood! ! Renu woke up after screaming. Elder sister-in-law………..

“शांतचित्तता तो पारे की तरह है। आप इसे पाने की जितनी ज्यादा कोशिश करते हैं, यह उतनी ही मुश्किल से हाथ आती है।” बर्न विलियम्स
“Tranquility is like quicksilver. The harder you grab for it, the less likely you will grasp it.” Bern Williams

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment