ईराक की पुस्तक रक्षक : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Iraq Ki Pustak Rakshak : Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

ईराक की पुस्तक रक्षक : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - बच्चों की पुस्तक | Iraq Ki Pustak Rakshak : Hindi PDF Book - Children's Book (Bachchon Ki Pustak)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name ईराक की पुस्तक रक्षक / Iraq Ki Pustak Rakshak
Author
Category, , , ,
Language
Pages 17
Quality Good
Size 5.6 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : ईराक कहलाने वाली भूमि सच में सभी लिखित भाषाओं का जन्मस्थान थी. पांच हजार साल पहले, लगभग 3500 ईसा पूर्व में, प्राचीन सुमेरियों ने गीली मिट्टी की तर्तियों पर दलदल में पाई जाने वाली नरकट की पच्चर से आकारों के चिह्न बनाए थे. तेज धूप मैं सकने के बाद मिट्टी में उनकी स्थायी छाप पड़ जाती थी. इस लेखन को “क्यूनीफॉर्म” कहा जाता था…….

Pustak Ka Vivaran : Iraq Kahalane vali bhumi sach mein sabhi likhit bhashaon ka janm sthan thee. Panch hazar sal pahale, Lagbhag 3500 Isa Purv mein, Pracheen Sumeriyon ne Geeli Mitti ki Takhtiyon par daldal mein payi jane Vali Narakat ki Pachchar se Aakaron ke chihn banaye the. Tej dhoop main sakane ke bad Mitti mein unaki sthayi chhap pad jati thee. Is Lekhan ko “Cuneiform” kaha jata tha…….

Description about eBook : The land called Iraq was in fact the birthplace of all written languages. Five thousand years ago, around 3500 BCE, ancient Sumerians made markings of shapes from reefs found in marshes on wet clay planks. After being able to get strong sunlight, they had a lasting impression in the soil. This writing was called “cuneiform”………

“सफलता अपने सामर्थ्य को साकार करना है। जीवन का केवल इंतज़ार भर न करें – इसे जीएं, सराहें, चखें, महकें और महसूस करें।” जो केप्प
“Success is living up to your potential. Don’t just show up for life – live it, enjoy it, taste it, smell it, feel it.” Joe Kapp

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment