झील का दैत्य : वैल बिरो द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Jheel Ka Daitya : by Val Biro Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

Book Nameझील का दैत्य / Jheel Ka Daitya
Author
Category, ,
Language
Pages 32
Quality Good
Size 2.3 MB
Download Status Available

झील का दैत्य का संछिप्त विवरण : यह सब ठीक था , पर सच यह था कि किसी ने भी आजतक झील के दैत्य को नहीं देखा था और न ही किसी ने उसका कोई अच्छा फोटो लिया था इसलिए आश्चर्य से होरेस ने ‘वूफ’ कहा। सबसे पहले वे एडिनबर्ग गए। वहां पर त्योहार का समय था और शहर में बड़ी भीड़ थी। लोगों को पुरानी कार गमड़ाप इतनी अच्छी लगी कि तमाम दर्शक उसे ही देखने के लिए उमड़ पड़े। मिस्टर ओल्डकेसल शहर की तस्वीरें………

Jheel Ka Daitya PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Yah Sab theek tha , par sach yah tha ki kisi ne bhee Aajtak jheel ke daity ko nahin dekha tha aur na hee kisi ne usaka koee achchha photo liya tha isaliye Ashchary se hores ne vooph kaha. Sabase pahale ve Edinabarg gae. vahan par tyohar ka samay tha aur shahar mein badi bheed thee. Logon ko purani Car Gamdrap itani achchhi lagi ki tamam darshak use hee dekhane ke liye umad pade. Mistar Auldkaisal shahar ki tasveeren…………
Short Description of Jheel Ka Daitya PDF Book : This was all right, but the truth was that no one had seen the monster of the lake till date, nor had anyone taken a good photo of it, so Horace said ‘Woof’ by surprise. First he went to Edinburgh. It was festival time and the city was crowded. People liked the old car gumdrap so much that all the spectators flocked to see it. Mr Oldcastle City Photos………..
“ज़िंदगी तो कुल एक पीढ़ी भर की होती है, पर नेक काम पीढ़ी दर पीढ़ी चलता है।” ‐ जापानी कहावत
“Life is for one generation; a good name is forever.” ‐ Japanese Proverb

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment