संसद में गांव, गरीब, किसान की बात : हुक्म देव नारायण सिंह द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – सामाजिक | Sansad Mein Ganv, Garib, Kisan Ki Bat : by Hukmdev Narayan Singh Hindi PDF Book – Social (Samajik)

संसद में गांव, गरीब, किसान की बात : हुक्म देव नारायण सिंह द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - सामाजिक | Sansad Mein Ganv, Garib, Kisan Ki Bat : by Hukmdev Narayan Singh Hindi PDF Book - Biography (Jeevani)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name संसद में गांव, गरीब, किसान की बात / Sansad Mein Ganv Garib Kisan Ki Bat
Author
Category
Language
Pages 151
Quality Good
Size 2 MB
Download Status Available

संसद में गांव, गरीब, किसान की बात का संछिप्त विवरण : श्री हुक्मदेवजी के साथ संसद्‌ में कई बार रहने का अवसर प्राप्त हुआ। विषयों का प्रस्तुतीकरण, विशेष रूप से गाँव तथा गरीब किसानों के संबंध में जिस प्रभावी तरीके से होता है, उससे सहज ही कोई आकर्षित हो सकता है। एक निर्वाचित जन-प्रतिनिधि का यह दायित्व बनता है कि वह लोकसभा में अपने संसदीय क्षेत्र की जनता से जुड़े विभिन्‍न विषयों एवं समस्याओं को………

Prem Ki Devi PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Shri Hukmdev Ji ke sath Sansad‌ mein kayi bar rahane ka Avsar prapt huya. Vishayon ka Prastutikaran, vishesh roop se Ganv tatha Gareeb kisanon ke sambandh mein jis prabhavi tarike se hota hai, usase sahaj hi koi Aakarshit ho sakata hai. Ek Nirvachit jan-pratinidhi ka yah dayitv banata hai ki vah Loksabha mein Apne Sansadiya kshetra ki janata se jude vibhin‍na vishayon evan samasyaon ko……..
Short Description of Prem Ki Devi PDF Book : I had the opportunity to be with Shri Hukamdevji many times in the Parliament. One can easily be attracted by the effective manner in which the presentation of topics, especially in relation to the village and poor farmers, is done. It is the responsibility of an elected public representative to address various issues and problems related to the people of his constituency in the Lok Sabha………..
“अपनी खुशियों के प्रत्येक क्षण का आनन्द लें; ये वृद्धावस्था के लिए अच्छा सहारा साबित होते हैं।” ‐ क्रिस्टोफर मोर्ले
“Cherish all your happy moments: they make a fine cushion for old age.” ‐ Christopher Morley

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment