जन्म से मोक्ष तक : ब्रह्मर्षि विश्वात्मा बावरा द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – आध्यात्मिक | Janm Se Moksh Tak : by Brahmarshi Vishvatma Bavara Hindi PDF Book – Spiritual (Adhyatmik)

जन्म से मोक्ष तक : ब्रह्मर्षि विश्वात्मा बावरा द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – आध्यात्मिक | Janm Se Moksh Tak : by Brahmarshi Vishvatma Bavara Hindi PDF Book – Spiritual (Adhyatmik)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name जन्म से मोक्ष तक / Janm Se Moksh Tak
Author
Category, ,
Pages 75
Quality Good
Size 14.3 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : एक सज्जन लंडन से पढ़कर आये भारत में। वहाँ पर एक ऑफिसर बने, देवयोग से मेरे शिष्य हो गये बह। उनके यहाँ एक दिन बैठा हुआ था तो उन्होंने मेरे से कहा कि गुरुजी आप एक बात कहते हो जो मेरे समझ में नहीं आती। मैंने कहा कि कौन सी बात तुम्हारी समझ में नहीं आती। उसने कहा कि आप कहते हो कि हमारे में जो योग्यता…

Pustak Ka Vivaran : Ek Sajjan London se padhakar aaye bharat mein. Vahan par ek officer bane, daivayog se mere shishy ho gaye bah. Unake yahan ek din baitha huya tha to unhonne mere se kaha ki guru jee aap ek bat kahate ho jo mere samajh mein nahin aati. mainne kaha ki kaun see bat tumhari samajh mein nahin aati. Usane kaha ki aap kahate ho ki hamare mein jo yogyata………
Description about eBook : A gentleman came to India studying from London. Became an officer there, my disciples were swept away by divine help. One day I was sitting with him, then he told me that you say one thing that I do not understand. I said what you do not understand. He said that you say that the ability in us………
“अपने भाग्य का नियंत्रण स्वयं कीजिए, नहीं तो कोई और करेगा।” जैक वेल्च
“Control your own destiny or someone else will.” Jack Welch

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment