मोक्ष मार्ग प्रदीपिका : किशनदयाल सिंह | Moksh Marg Pradipika : by Kishandayal Singh Hindi PDF Book

पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name मोक्ष मार्ग प्रदीपिका / Moksh Marg Pradipika
Author
Category,
Language
Pages 226
Quality Good
Size 3.4 MB
Download Status Available

मोक्ष मार्ग प्रदीपिका पुस्तक का कुछ अंश : इस नाश वाले संसार में जो कुछ वस्तुएं हैं इन सब में ईश्वर विद्यमान है| उस इश्वर की दी हुई वस्तुओं का भोग करो, किसी का धन लेने की अधर्म से इच्छा मत करो………….

Short Passage of Moksh Marg Pradipika Hindi PDF Book : God is present in all the things that exist in this perishable world. Enjoy the things given by that God, don’t wish to take someone’s money unrightfully……..
“अपने उद्देश्य महान रखें, चाहें इसके लिए कांटों भरी डगर पर ही क्यों न चलना पड़े।” ‐ सुसैन लोंगएकर
“Reach for the stars, even if you have to stand on a cactus.” ‐ Susan Longacre

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment