मध्यभारतीय भाषा-चयन : डॉ. वीरमणि प्रसाद उपाध्याय द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक – ऐतिहासिक | Madhya Bharatiya Bhasha Chayan : by Dr. Veermani Prasad Upadhyaya Hindi PDF Book – Historical ( Etihasik )

मध्यभारतीय भाषा-चयन : डॉ. वीरमणि प्रसाद उपाध्याय द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक – ऐतिहासिक | Madhya Bharatiya Bhasha Chayan : by Dr. Veermani Prasad Upadhyaya Hindi PDF Book – Historical ( Etihasik )
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name मध्यभारतीय भाषा-चयन / Madhya Bharatiya Bhasha Chayan
Author
Category,
Pages 226
Quality Good
Size 50 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : मध्य भारतीय भाषा का सबसे पहला व्याकरण ‘प्राकृत प्रकाश’ है, जिसके रचयिता वात्तिककार वररुचि से भिन्‍न है और इनका समय ईस्वी की पहली शताब्दी में निर्धारित किया जाता है । मार्कण्डेय के प्राकृत-सर्वस्व में भरत, शाकल्य और कोहल ये तीन नाम प्राकृत वैयाकरणों के मिलते हैं, किन्तु इनके व्याकरण ने नहीं हैं।………

Pustak Ka Vivaran : Madhy bharatiy bhasha ka sabase pahala vyakaran ‘prakrt prakash hai, jisake rachayita vattikakar vararuchi se bhinn hai aur inaka samay esvi ki pahalui shatabdi mein nirdhaarit kiya jata hai. Markandey ke prakrt-sarvasv mein bharat, shakaly aur kohal ye tin nam prakrt vaiyakaranon ke milate hain, kintu inake vyakaran ne nahin hain.………….

Description about eBook : The first grammar of the central Indian language is ‘Prakrak Prakash’, the author of which is different from the Apostolic Varruchi and their time is fixed in the first century of AD. In the nature of Markandeya, Bharat, Shakalya and Kohal, these three names meet the Prakrit Vyaparan, but their grammar is not there……………

“अधिकतर लोग बातें करते हैं, लेकिन हम काम करते हैं। वे इरादे बनाते हैं, और हम हासिल करते हैं। वे झिझकते हैं, हम आगे बढ़ते हैं। हम इस बात के जीते जागते सबूत हैं कि जब इंसानों में सपने साकार करने का हौंसला और वचनबद्धता हो तो उन्हें कोई नहीं रोक सकता। दुबई इसका जीवंत उदाहरण है।” – शेख मोहम्मद बिन रशीद अल मक्तौम
“Most of people talk, we do things. They plan, we achieve. They hesitate, we move ahead. We are living proof that when human beings have the courage and commitment to transform a dream into reality, there is nothing that can stop them. Dubai is a living example of that.” – Sheikh Mohammed Bin Rashid Al Maktoum

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment