मध्य पहाड़ी भाषा (गढ़वाली कुमाऊँ नी) का अनुशीलन और उसका हिंदी में सम्बन्ध : डॉ. गुणानन्द जुयाल द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – इतिहास | Madhya Pahadi Bhasha (Gadhvali Kumaun Ni) Ka Anusheelan Aur Usaka Hindi Mein Sambandh : by Dr. Gunanand Juyal Hindi PDF Book – History (Itihas)

मध्य पहाड़ी भाषा (गढ़वाली कुमाऊँ नी) का अनुशीलन और उसका हिंदी में सम्बन्ध : डॉ. गुणानन्द जुयाल द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - इतिहास | Madhya Pahadi Bhasha (Gadhvali Kumaun Ni) Ka Anusheelan Aur Usaka Hindi Mein Sambandh : by Dr. Gunanand Juyal Hindi PDF Book - History (Itihas)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name मध्य पहाड़ी भाषा (गढ़वाली कुमाऊँ नी) का अनुशीलन और उसका हिंदी में सम्बन्ध / Madhya Pahadi Bhasha (Gadhvali Kumaun Ni) Ka Anusheelan Aur Usaka Hindi Mein Sambandh
Author
Category, ,
Language
Pages 196
Quality Good
Size 2.8 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : मध्य-पहाड़ी का क्षेत्र पूर्वी तथा पश्चिमी पहाड़ी भाषाओं क्षेत्र से कम है। इसका विस्तार पश्चिम से लेकर पूर्व में शारदा तक है। यमुना के उदगम यमुनोत्तरी से ३० मील दक्षिण तक जहाँ यमुना यातायात में अधिक बाथक नहीं है। यमुना के पश्चिम में भी खोई परमन्ना में भी मध्य पहाड़ी की गढ़वाली बोली ही बोली जाती है। यधपि खोई की बोली पर जौनसारी का बहुत अधिक प्रभाव है…

Pustak Ka Vivaran : Madhy-Pahadi ka kshetra poorvi tatha pashchimi pahadi bhashaon kshetra se kam hai. Isaka vistar pashchim se lekar poorv mein sharada tak hai. Yamuna ke udagam yamunottari se 30 meel dakshin tak jahan yamuna yatayat mein adhik badhak nahin hai. Yamuna ke pashchim mein bhee khoi paraganna mein bhee madhy pahadi ki gadhavali boli hi boli jati hai. Yadhapi khoi ki boli par jaunasari ka bahut adhik prabhav hai………….

Description about eBook : The area of ​​mid-hill is less than the area of ​​eastern and western hill languages. It extends from the west to Sharda in the east. Ascension of Yamuna, 30 miles south of Yamunotri, where Yamuna is not much obstructive to traffic. The Garhwali dialect of the middle hill is also spoken in Khoi Parganna, to the west of the Yamuna. However, Jaunsari has a great influence on Khoi’s dialect…………

“मुझे अफ़सोस है कि मेरे बच्चे जब बड़े हो रहे थे तब मेरे पास उनके साथ गुजारने के लिए समय का अभाव था।” ‐ टीना टर्नर
“I regret not having had more time with my kids when they were growing up.” ‐ Tina Turner

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment