नये पैबंद, पुराने पैबंद : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – कहानी | Naye Paiband, Purane Paiband : Hindi PDF Book – Story (Kahani)

Book Nameनये पैबंद, पुराने पैबंद / Naye Paiband Purane Paiband
Author
Category, ,
Language
Pages 23
Quality Good
Size 2 MB
Download Status Available

नये पैबंद, पुराने पैबंद का संछिप्त विवरण : “बेटा, सिलाई करने के लिये मेरे पास आज बिल्कुल वक्‍त नहीं है. कल से त्योहार की छुट्टियाँ शुरू हो रही हैं. मुझे गुज़रे हुए रिश्तेदारों के लिए प्रार्थना भी करनी है. तुम अपनी बेटी से क्यों नहीं कहते? उसे भी तो कुछ काम करना चाहिए.” “ठीक है,” हसन ने कहा और फिर वो अपनी बेटी के घर की ओर चल दिया. “बिटिया,” उसने कहा, “मैं तुम्हारे लिये कुछ………

Naye Paiband Purane Paiband PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Beta, Silayi Karne ke liye mere pas Aaj Bilkul vak‍ta nahin hai. Kal se Tyohar ki Chhuttiyan Shuroo ho rahi hain. Mujhe Guzare huye Rishtedaron ke liye prarthana bhi karani hai. Tum Apni Beti se k‍yon nahin kahate ? Use bhi to kuchh kam karna chahiye.” “Theek hai,” Hasan ne kaha aur phir vo apni Beti ke Ghar ki or chal diya. “Bitiya,” usne kaha, “Main Tumhare liye kuchh………
Short Description of Naye Paiband Purane Paiband PDF Book : Son, I have absolutely no time today to sew. The festival holidays are starting from tomorrow. I also have to pray for the relatives who have passed away. Why don’t you tell your daughter? He should also do some work.” “Okay,” said Hassan and then headed towards his daughter’s house. “Daughter,” he said, “I have something for you………
“जो कुछ भी इस विश्व को अघिक मानवीय और विवेकशील बनाता है उसे प्रगति कहते हैं; और केवल यही मापदंड हम इसके लिये अपना सकते हैं।” – डब्ल्यू. लिपमैन
“Anything that makes the world more humane and more rational is progress; that’s the only measuring stick we can apply to it.” – W. Lippmann

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment