राजिम : डॉ. विष्णुसिंह ठाकुर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – इतिहास | Rajim : by Dr. Vishnu Singh Thakur Hindi PDF Book – History (Itihas)

राजिम : डॉ. विष्णुसिंह ठाकुर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - इतिहास | Rajim : by Dr. Vishnu Singh Thakur Hindi PDF Book - History (Itihas)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name राजिम / Rajim
Author
Category, , ,
Language
Pages 175
Quality Good
Size 30 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : राजिम की पश्चिम दिशा में महानदी के दूसरे तट पर नयापारा नामक एक छोटा-सा नगर है। प्रारम्भ में यह राजिम का ही अंग था परन्तु अब स्वतन्त्र नगर हो गया है। रायपुर और नयापारा के मध्य रेलमार्ग है। बरसात के दिनों में नया-पारा से राजिम जाने के लिए नदी को नाव द्वारा पार करते थे। जब पानी यथेष्ट……..

Pustak Ka Vivaran : Rajim ki Pashchim disha mein Mahanadi ke doosare tat par Nayapara Namak ek chhota-sa nagar hai. Prarambh mein yah Rajim ka hi Ang tha Parantu ab svatantra nagar ho gaya hai. Rayapur aur Nayapara ke madhy Railmarg hai. Barasat ke dinon mein naya-para se Rajim jane ke liye nadi ko Nav dvara par karate the. Jab Pani yathesht………

Description about eBook : On the other bank of the Mahanadi towards the west of Rajim is a small town called Nayapara. Initially it was part of Rajim but now it has become an independent city. There is a rail route between Raipur and Nayapara. During the rainy days they used to cross the river by boat to go from Naya-Para to Rajim. When water is sufficient ………..

“जीवन का आनंद लेना और अपने मनभावन कर्म करना ही सफलता है।” ‐ विंस फाफ
“Success is relishing life and doing whatever makes you truly happy.” ‐ Vince Pfaff

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment