उत्तर प्रदेश में कृषि विपणन की स्थिति और सम्भावनाएँ : राकेश कुमार द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – कृषि | Uttar Pradesh Me Krishi Vipdan Ki Sthiti Aur Sambhawnayen : by Rakesh Kumar Hindi PDF Book – Agriculture ( Krishi )

उत्तर प्रदेश में कृषि विपणन की स्थिति और सम्भावनाएँ : राकेश कुमार द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - कृषि | Uttar Pradesh Me Krishi Vipdan Ki Sthiti Aur Sambhawnayen : by Rakesh Kumar Hindi PDF Book - Agriculture ( Krishi )
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name उत्तर प्रदेश में कृषि विपणन की स्थिति और सम्भावनाएँ / Uttar Pradesh Me Krishi Vipdan Ki Sthiti Aur Sambhawnayen
Author
Category
Language
Pages 353
Quality Good
Size 27.6 MB
Download Status Available

उत्तर प्रदेश में कृषि विपणन की स्थिति और सम्भावनाएँ का संछिप्त विवरण : भारत वर्ष में कृषि मात्र जीविकोपार्जन का साधन न हो करके अर्थव्यवस्था का मेरुदण्ड भी है | राष्ट्र का व्यापार, विदेशी मुंद्रा अर्जन, रोजगार स्तर, राष्ट्रीय आय और राजनैतिक स्थायित्व कृषि पर निर्भर है मानव की बढती हुई आवश्यकताओ के साथ कृषक को भी अपनी आवश्यकताओ की पूर्ति हेतु कुछ फसलो की खेती करना आवश्यक हो गया है……….

Uttar Pradesh Me Krishi Vipdan Ki Sthiti Aur Sambhawnayen PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Bharat varsh mein krshi matr jeevikoparjan ka sadhan na ho karke arthavyavastha ka merudand bhi hai. Rashtr ka vyapar, videshi mundra arjan, rojagar star, rashtriy aay aur rajnaitik staayitv krshi par nirbhar hai manav kI badhati hui aavashyakatao ke sath krshak ko bhi apni aavashyakatao ki purti hetu kuch phasalo ki kheti karna aavashyak ho gaya hai…………
Short Description of Uttar Pradesh Me Krishi Vipdan Ki Sthiti Aur Sambhawnayen PDF Book : In India, agriculture is not only a means of livelihood but also the spinal cord of the economy. National trade, foreign exchange earning, employment level, national income and political stability depend on agriculture, along with the growing need of human beings, the farmer has also been required to cultivate some crops to meet his needs……………
“कठिनाईयों का अर्थ आगे बढ़ना है, न कि हतोत्साहित होना। मानवीय भावना का अर्थ द्वन्द्व से और अधिक मजबूत होना होता है।” ‐ विलियम एल्लेरी चैन्निंग
“Difficulties are meant to rouse, not discourage. The human spirit is to grow strong by conflict.” ‐ William Ellery Channing

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment