अछूत कौन और कैसे : डॉ. भीमराव अम्बेडकर द्वारा मुफ्त हिंदी पीडीएफ पुस्तक | Achoot Kaun Or Kaise : by Dr. Bhimrao Ambedkar Free Hindi PDF Book

अछूत कौन और कैसे : डॉ. भीमराव अम्बेडकर द्वारा मुफ्त हिंदी पीडीएफ पुस्तक | Achoot Kaun Or Kaise : by Dr. Bhimrao Ambedkar Free Hindi PDF Book
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name अछूत कौन और कैसे / Achoot Kaun Or Kaise
Author
Category, ,
Language
Pages 204
Quality Good
Size 143 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : आध्यात्मिक चिंतन अनिवार्य- जो लोग आध्यात्मिक चिंतन से विमुख होकर केवल लोकोपकारी कार्य में लगे रहते हैं, वे अपनी ही सफलता पर अथवा सद्गुणों पर मोहित हो जाते हैं | वे अपने आपको लोक सेवक के रूप में देखने लगते हैं | इस अवस्था में वे आशा करते हैं की सब लोग उनके कार्यों की प्रशंसा करें, उनका कहना मानें | उनका बढ़ा हुआ अभिमान उन्हें अनेक लोगो का शत्रु बन देता है …….

Pustak Ka Vivran : Aadhyatmik chintan anivary- jo log Adhyatmik chintan se vimukh hokar keval lokopakari kary mein lage rahate hain, ve apni hi Saphalata par athava sadgunon par mohit ho jate hain. Ve apne aapako lok sevak ke roop mein dekhane lagate hain. Is Avastha mein ve aasha karte hain ki sab log unke karyon ki prashansa karen, unka kahna manen. Unka badha huya abhiman unhen anek logo ka shatru ban deta hai …….

Description about eBook : Essentially spiritual contemplation- Those who turn from spiritual contemplation and only engage in humanitarian work, They are deceived by their own success or virtues.At this stage they expect everyone to admire his work, he said, according.The increased number of people as an enemy gives them pride | Public Service by not making them public on their real public servant takes the form of destruction……………….

“आप आराम की ज़िंदगी चाहते हैं तो आपको कुछ परेशानी तो उठानी ही होगी।” ‐ एबिगैल वैन ब्यूरेन
“If you want a place in the sun, you’ve got to put up with a few blisters.” ‐ Abigail Van Buren

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment