अंग विद्या : शशिकला शर्मा द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – ग्रन्थ | Anga Vidhya : by Shashikala Sharma Hindi PDF Book – Granth

Book Nameअंग विद्या / Anga Vidhya
Author
Category, , ,
Language
Pages 202
Quality Good
Size 160 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : इनका ‘अंगविद्या’ नामक सामुद्रिक शास्त्र ग्रन्थ बहुत महत्वपूर्ण है। आज विदेशों में भी हस्तरेखा और अंगविद्या पर विशाल वाड्मय उपलब्ध है। भारतीय स्मृतियों और उनके पुराणों में भी इसपर लिखा गया है। श्री शर्मा का यह ग्रन्थ सुसम्पादित, सुव्याख्यात एवं सकधित है। आशा है, अपने क्षेत्र में उस ग्रन्थ का महत्वपूर्ण स्थान है……..

Pustak Ka Vivaran : Inaka Angavidya namak samudrik shastr granth bahut mahatvapoorn hai. Aaj videshon mein bhee hastarekha aur angavidya par vishal vadmay upalabdh hai. Bharateey smrtiyon aur unake puranon mein bhee isapar likha gaya hai. shree sharma ka yah granth susampadit, suvyaakhyat evan sakathit hai. aasha hai, apane kshetr mein us granth ka mahatvapoorn sthan hai…………

Description about eBook : His Samudra scripture called ‘Angavidya’ is very important. Today, there is a huge music abroad on palmistry and organism. It is also written in Indian memories and their Puranas. This book of Shri Sharma is well-composed, well-known and well-known. Hope, that book has an important place in its field………..

“जो कुछ भी इस विश्व को अघिक मानवीय और विवेकशील बनाता है उसे प्रगति कहते हैं; और केवल यही मापदंड हम इसके लिये अपना सकते हैं।” ‐ डब्ल्यू. लिपमैन
“Anything that makes the world more humane and more rational is progress; that’s the only measuring stick we can apply to it.” ‐ W. Lippmann

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment