भक्ति रहस्य मुफ्त हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक | Bhakti Rahasya Hindi Book Free Download

पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name भक्ति रहस्य / Bhakti Rahasya
Author
Category
Language
Pages 179
Quality Good
Size 2.8 MB
Download Status Available

भक्ति रहस्य पुस्तक का कुछ अंशसूर्य का स्वभाव है कि वह अपनी आलोक -रश्मियों के विस्तार से निखिल जगत में नविन चेतना और स्फूर्ति का संचार करता रहे। यदि नेत्र दोष के कारण कोई उस प्रकाश को नहीं ग्रहण कर सके तो यह सूर्य का वैश्यम्य नहीं, नेत्र के रोगी का ही दोष है। इसी प्रकार भगवत्कृपा होने पर भी, रहने पर भी……..

Bhakti Rahasya PDF Pustak in Hindi Ka Kuch Ansh : Soory ka Svabhav hai ki vah apni aalok -Rashmiyon ke vistar se nikhil jagat mein navin chetana aur sphoorti ka sanchar karta rahe. Yadi netr dosh ke karan koi us prakash ko nahin grahan kar sake to yah soory ka vaishyamy nahin, netr ke rogi ka hee dosh hai. isee prakar bhagavatkrpa hone par bhee, rahane par bhee……..
Short Passage of Bhakti Rahasya Hindi PDF Book : It is the nature of the Sun that with the expansion of its light-rays, it should continue to communicate new consciousness and enthusiasm in the Nikhil world. If someone is not able to receive that light due to eye defect, then it is not the Sun’s Vaishyam, it is the fault of the eye patient. In the same way, even after having the grace of God, even after living….
“प्रेरणा अंतर्मन से उत्पन्न होने वाली आग है। यदि आपके भीतर इस आग को जलाने का प्रयास किसी अन्य व्यक्ति द्वारा किया जाता है तो इस बात की संभावना है कि यह थोड़ी ही देर जलेगी।” ‐ स्टीफन आर. कोवे
“Motivation is a fire from within. If someone else tries to light that fire under you, chances are it will burn very briefly.” ‐ Stephen R. Covey

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment