चाँद जमीन पर उतरेगा : साजिद हाश्मी द्वारा मुफ्त हिंदी गजल पीडीएफ पुस्तक | Chand Zameen Par Utarega : by Sajid Hashmi Free Hindi Ghazal PDF Book

पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name चाँद जमीन पर उतरेगा / Chand Zameen Par Utarega
Author
Category,
Language
Pages 51
Quality Good
Size 25 MB
Download Status Available
चाँद जमीन पर उतरेगा का संछिप्त विवरण : बहुत खुशी हो रही है अपनी सोच को एक संग्रह का रूप लेते हुए देखकर| मुझे वह वक्त यद् आ रहा है, जब मैं अपने वालिद साहब “मुहम्मद हयात हाशमी साहब” मरहूम के पास बैठकर उनकी और उनके दोस्तों की शायरी सुना करता था और ऐसे बहस मुबाहसों का हिस्सा हुआ करता था, वही मेरा पहला स्कूल हुआ करता था शायरी का…………..
Chand Zameen Par Utarega PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Bahut khushi ho rahi hai apni soch ko ek sangrah ka roop lete huye dekhakar. Mujhe vah vakt yad aa raha hai, jab main apane valid sahab “Muhammad hayat hashami sahab” marahoom ke pas baithakar unki aur unake doston ki shayari suna karata tha aur aise bahas mubahason ka hissa huya karata tha, vahi mera pahala school hua karata tha shayari ka…………
Short Description of Chand Zameen Par Utarega PDF Book :  It is very happy to see your thinking taking the form of a collection. I am having this time, when I used to hear my poetry of his and his friends sitting near Mirham, “Muhammad Hyaat Hashmi Saheb”, and used to be a part of the debate, he used to be my first school of shayari………………
“हम जब तक खुद मां बाप नहीं बन जाएं, मां बाप का प्यार कभी नहीं जान पाते।” ‐ हेनरी वार्ड बीचर, (१८१३-१८८७), अमरीकी पादरी
“We never know the love of a parent till we become parents ourselves.” ‐ Henry Ward Beecher, (1813-1887), American Clergyman

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment