चुनाव पद्धति और जनसत्ता : विजय सिंह द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Chunav Paddhati Aur Jansatta : by Vijay Singh Hindi PDF Book

चुनाव पद्धति और जनसत्ता : विजय सिंह द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Chunav Paddhati Aur Jansatta : by Vijay Singh Hindi PDF Book
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name चुनाव पद्धति और जनसत्ता / Chunav Paddhati Aur Jansatta
Author
Category,
Language
Pages 184
Quality Good
Size 4 MB
Download Status Available

चुनाव पद्धति और जनसत्ता का संछिप्त विवरण : आजकल हमारे देश मे चुनावों का महत्व काफी बढ़ गया है | काँग्रेस के हाथ से सत्ता आने के बाद से तो यह हमारे राष्ट्रीय जीवन का एक मुख्य भाग बन गया है देश व्यापी दल बंदियों ने जहां देश के सार्वजनिक जीवन को बहुत नुकसान पहुंचाया है, वहाँ इस रूचि को बढ़ाने मे काफी मदद भी दी है……

 

Chunav Paddhati Aur Jansatta PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Aajkal hamare desh me chunaavon ka mahatv kaafi badh gaya hai. Congress ke haath se satta aane ke baad se to yah hamaare raashtreey jeevan ka ek mukhy bhaag ban gaya hai desh vyaapee dal bandiyon ne jahaan desh ke saarvajanik jeevan ko bahut nukasaan pahunchaaya hai, vahaan is roochi ko badhaane me kaaphee madad bhee dee hai………….
Short Description of Chunav Paddhati Aur Jansatta PDF Book : Nowadays, the importance of elections in our country has increased significantly. Since the Congress came to power, it has become a major part of our national life. While the country-wide party prisoners have done a lot of harm to the public life of the country, there has been a great help in enhancing this interest……………
“सब कुछ स्पष्ट होने पर ही निर्णय लेने का आग्रह जो पालता है, वह कभी निर्णय नहीं ले पाता।” – हेनरी फ़्रेडरिक आम्येल (१८२१-१८८१), स्विस कवि एवं दार्शनिक
“The man who insists on seeing with perfect clarity before he decides, never decides.” -Henri Frederic Amiel (1821-1881), Swiss poet and philosopher

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

1 thought on “चुनाव पद्धति और जनसत्ता : विजय सिंह द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Chunav Paddhati Aur Jansatta : by Vijay Singh Hindi PDF Book”

Leave a Comment