चुने हुए फ़िल्मी धार्मिक गीत और प्रचलित भजन : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – सामाजिक | Chune Huye Filmi Dhamrik Geet Aur Prachalit Bhajan : Hindi PDF Book – Social (Samajik)

चुने हुए फ़िल्मी धार्मिक गीत और प्रचलित भजन : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - सामाजिक | Chune Huye Filmi Dhamrik Geet Aur Prachalit Bhajan : Hindi PDF Book - Social (Samajik)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name चुने हुए फ़िल्मी धार्मिक गीत और प्रचलित भजन / Chune Huye Filmi Dhamrik Geet Aur Prachalit Bhajan
Category, , ,
Language
Pages 64
Quality Good
Size 9 MB
Download Status Available

चुने हुए फ़िल्मी धार्मिक गीत और प्रचलित भजन पीडीऍफ़ पुस्तक का संछिप्त विवरण : मेरी लाज राखो गिरधारी मैं लाख जतन कर हारी रे मेरी , बहुत सहा अब सहा न जाए और किसी से कहा न जाए। चरणो ,में दो अश्रु चढ़ाने आई शरण तिहारी, मेरी ‘“*” सूनी कोख कलंक बन गई मधुर दृष्टि क्यों डंक बन गई। क्‍यों माँ का मन दिया मुझे आँचल में चिनगारी, मेरी “’ चिरंजीवी नन्‍्हा कन्हैया रहे शीश पर सुख की छैया मैं न रहूँ पर रहे खेलता घर आंगन बनवारी……

 

Chune Huye Filmi Dhamrik Geet Aur Prachalit Bhajan PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Meri laj Rakho Girdhari main lakh jatan kar hari re meri , bahut saha ab saha na jaye aur kisi se kaha na jae. charano ,mein do ashru chadhane aayi sharan tihari, meree sooni kokh kalank ban gayi madhur drshti kyon dank ban gayi. Kyon man ka man diya mujhe aanchal mein chinagari, meri chiranjeevi nanha kanhaiya rahe sheesh par sukh kee chhaiya main na rahoon par rahe khelata ghar aangan banavari…………

Short Description of Chune Huye Filmi Dhamrik Geet Aur Prachalit Bhajan Hindi PDF Book : My dear ashes Girdhari I have lost my life, I have lost my lot, do not suffer any longer and cannot be told to anyone. Sharan Tihari came to offer two tears in Charano, my “” “” sunny womb became a stigma, why did the sweet sight sting? Why mother’s mind gave me sparkle in the fire, my ” ‘Chiranjeevi’s little Kanhaiya is the head of happiness on the head, I am not living, but I play the house courtyard…………

 

“हम जैसा सोचते हैं वैसे बनते हैं।” ‐ अर्ल नाइटिंगेल
“We become what we think about.” ‐ Earl Nightingale

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment