दैनिक जीवन और मनोविज्ञान : इलाचन्द्र जोशी द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – विज्ञान | Dainik Jeevan Aur Manovigyan : by Ilachandra Joshi Hindi PDF Book – Science (Vigyan)

Book Nameदैनिक जीवन और मनोविज्ञान / Dainik Jeevan Aur Manovigyan
Author
Category, , , , ,
Language
Pages 196
Quality Good
Size 82.5 MB
Download Status Available

दैनिक जीवन और मनोविज्ञान  पीडीऍफ़ पुस्तक का संछिप्त विवरण : मनुष्य के भीतर असंतोष का जो सबसे बड़ा कारण है उसकी अपनी असमर्थता और अपूर्णता की अनुभूति | यह अनुभूति तभी उसके मन में जागरित हो जाती है जब बह दूध-पीता बच्चा होता है
| बच्चा न बोल सकता है, न चल फिर सकता है, स्वयं अपनी चेष्टा से अपनी भूख मिटा सकता है; पर वह यह
है कि.

Dainik Jeevan Aur Manovigyan PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Pustak Ka Vivaran : Manushy ke Bheetar asantosh ka jo sabase bada karan hai usaki apani asamarthata aur apoornata kee anubhooti. Yah anubhooti tabhee usake man mein jagarit ho jati hai jab vah doodh-peeta bachcha hota hai. Bachcha na bol sakata hai, na chal phir sakata hai, svayan apani cheshta se apani bhookh mita sakata hai; par vah yah hai ki…………

Short Description of Dainik Jeevan Aur Manovigyan Hindi PDF Book  : The greatest reason for dissent within man is the inability of his inability and incompleteness. This feeling only gets awakened in her mind when she is a baby born with milk. The child can not speak, can not walk, he can eradicate his hunger from his own desires; But that is…………..

 

“प्रबंधन अन्य लोगों के माध्यम से काम करवाने की कला है।” मैरी पार्कर फोल्लेट्ट
“Management is the art of getting things done through other people.” Mary Parker Follett

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment