दर्शन और चिंतन : पंडित सुखलाल जी द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Darshan Aur Chintan : by Pandit Sukhlaal Ji Hindi PDF Book

दर्शन और चिंतन : पंडित सुखलाल जी द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Darshan Aur Chintan : by Pandit Sukhlaal Ji Hindi PDF Book
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name धूमावती साधना / Dhumavati Sadhna
Author
Category,
Pages 958
Quality Good
Size 31 MB
Download Status Available

धूमावती साधना का संछिप्त विवरण : विभूति पूजा संस्कार के प्रत्येक देशके लिए एक आवश्यक कार्य है। समय समय पर देशकी महान विभूतीयों का आदर सत्कार होता ही रहता है, और यह प्रजाकी जागरूकता और जीवन विकास चिन्ह है। जिस विभूति का सम्मान करने के उद्देश्य हम यह ग्रंथरत्न प्रकट कर रहे है वह केवल जैन के लिए आदरणीय है, या सिर्फ गुजरातकी……..

Dhumavati Sadhna PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : vibhooti pooja sanskaar ke pratyek deshake lie ek aavashyak kaary hai. samay samay par deshakee mahaan vibhooteeyon ka aadar satkaar hota hee rahata hai, aur yah prajaakee jaagarookata aur jeevanavikaas chinnh hai. jis vibhooti ka sammaan karane ke uddeshy ham yah grantharatn prakat kar rahe hai vah keval jain ke lie aadaraneey hai, ya sirph gujaraatakee………….
Short Description of Dhumavati Sadhna PDF Book : Vibhuti Puja is an essential function for every nation of rites. From time to time, the great distinguished people of the country are honored and respected, and this is the awareness and livelihood of the people. The object of which we are revealing this glory, it is only honorable for Jain, or only Gujarati…………..
“क्षमा करना सबसे मधुर प्रतिशोध है।” ‐ इसाक फ्राइडमैन्न
“Forgiveness is the sweetest revenge.” ‐ Isaac Friedmann

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment