दीगो रिवेरा मेक्सिकन आर्टिस्ट : जीनेट और जोनाह द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Deego Rivera Mexican Art : by Jeanette Aur Jonah Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

Book Nameदीगो रिवेरा मेक्सिकन आर्टिस्ट / Deego Rivera Mexican Art
Author
Category, ,
Language
Pages 37
Quality Good
Size 2 MB
Download Status Available

दीगो रिवेरा मेक्सिकन आर्टिस्ट का संछिप्त विवरण : ऐसा नहीं था कि दीगो को सब कुछ अच्छा लगता था. इसलिए उसने बराबरी और समानता की लड़ाई लड़ने में गरीबों की मदद की. गरीब मजदूर अधिक मजदूरी और बेहतर ज़िन्दगी के लिए लड़ाई लड़ रहे थे. दीगो को सबसे ज्यादा प्रेम आम लोगों से था. उसे चित्रकारी से बहुत प्रेम था. इसलिए वो पेरिस गया – जो दुनिया में चित्रकारी का सबसे महान केंद्र माना जाता है…………..

Deego Rivera Mexican Art PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Aisa Nahin tha ki deego ko sab kuchh achchha lagata tha. Isaliye usane barabari aur samanata kee ladai ladane mein gareebon kee madad kee. Gareeb majadoor adhik majadooree aur behatar zindagi ke liye ladai lad rahe the. Deego ko sabase jyada prem Aam logon se tha. Use Chitrakari se bahut prem tha. Isaliye vo peris gaya – jo duniya mein chitrakari ka sabase mahan kendra mana jata hai……….
Short Description of Deego Rivera Mexican Art PDF Book : It was not that Digo liked everything. Therefore, he helped the poor in fighting the fight for equality and equality. Poor laborers were fighting for higher wages and better lives. Digo loved the common people the most. He loved painting very much. So he went to Paris – considered to be the greatest center of painting in the world………….
“इस दुनिया में जो कुछ हम अर्जित करते हैं, उससे नहीं अपितु जो कुछ त्याग करते हैं, उससे समृद्ध बनते हैं।” – हैनरी वार्ड बीचर
“In this world it is not what we take up, but what we give up, that makes us rich.” – Henry Ward Beecher

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment