गुलाबी ईद : अविनाश शर्मा द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – कहानी | Gulabi Id : by Avinash Sharma Hindi PDF Book – Story (Kahani)

गुलाबी ईद : अविनाश शर्मा द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - कहानी | Gulabi Id : by Avinash Sharma Hindi PDF Book - Story (Kahani)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name गुलाबी ईद / Gulabi Id
Author
Category,
Language
Pages 33
Quality Good
Size 201 KB
Download Status Available
गुलाबी ईद पुस्तक का कुछ अंश : प्रोफ़ेसर र॑गनाथ अपने कमरे में पड़े एक सोफ़े में सर को पीछे की तरफ झुका आराम कर रहे थे तभी उनके बगल में बजते हुए मोबाईल ने उनका ध्यान अपनी तरफ खिंचा प्रोफ़ेसर ने मोबाईल उठाकर देखा तो दिल्ली से उनके बेटे क्षितिज का फोन था | हेल्लो….प्रोफ़ेसर ने फोन रिसीव किया | पापा आप इस बार आतो रहे है न वहां से क्षितिज की आवाज सुनाई दी…….
Gulabi Id PDF Pustak in Hindi Ka Kuch Ansh : Profesar Rangnath apne kamre mein pade ek sofe mein sar ko pichhe ki taraph jhukae aaram kar rahe the tabhi unke bagal mein bajte hue mobail ne unka dhyan apni taraph khincha Profesar ne mobil uthakar dekha to Dilli se unke bete Kshitij ka phon tha. Hello……Profesar ne phon risiv kiya. Papa aap is baar aa to rahe hai na vahan se Kshitij ki aavaj sunai di…………
Short Passage of Gulabi Id Hindi PDF Book : Professor Ranganath was resting his head in the back of a sofa lying in his room while the mobile phone running beside him, his attention was taken by Professor on his mobile phone, and his son was the call of son of Delhi from Delhi. Hello …… Professor received the phone. Papa, you have been here this time or you heard the horizon from there……………
“तूफ़ानों से पेड़ों की जड़ें और गहरी व मज़बूत होती है।” ‐ क्लॉड मैक्डॉनल्ड
“Storms make trees take deeper roots.” ‐ Claude McDonald

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment