हिन्दी की जिम्मेदारियाँ : डॉ. जयन्त विष्णु नार्लिकर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – साहित्य | Hindi Ki Zimmedariyan : by Dr. Jayant Vishnu Narlikar Hindi PDF Book – Literature (Sahitya)

हिन्दी की जिम्मेदारियाँ : डॉ. जयन्त विष्णु नार्लिकर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - साहित्य | Hindi Ki Zimmedariyan : by Dr. Jayant Vishnu Narlikar Hindi PDF Book - Literature (Sahitya)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name हिन्दी की जिम्मेदारियाँ / Hindi Ki Zimmedariyan
Author
Category, ,
Language
Pages 4
Quality Good
Size 406 KB
Download Status Available

हिन्दी की जिम्मेदारियाँ का संछिप्त विवरण : तो हिंदी भाषा को इस कर्तव्य को निभाने के लिए आगे आना होगा। जहाँ तक हिंदी भाषी राज्यों का सवाल हैं वहाँ तो हिंदी का यह “जानकारी की भाषा’ जैसा कर्तव्य तो रहेगा ही पर अन्य राज्यों में भी हिंदी की विज्ञान समझने-समझाने की क्षमता उपयोगी साबित होगी क्योंकि वहाँ की भाषाएँ हिंदी से मिलने वाली जानकारी का लाभ उठा सकती हैं। पर इस भूमिका को निभाने के लिए हिंदी को और……

Hindi Ki Zimmedariyan PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : To Hindi Bhasha ko is kartavy ko Nibhane ke liye Aage aana hoga. jahan tak hindIbhashI rajyon ka saval hain vahan to hindI ka yah “jankarI kI bhasha jaisa kartavy to rahega hi par any Rajyon mein bhi hindi ki vigyan samajhane-samajhane ki kshamata Upyogi sabit hogi kyonki vahan ki bhashayen hindi se milane vali Jankari ka labh utha sakti hain. Par is Bhoomika ko Nibhane ke liye hindi ko aur…….
Short Description of Hindi Ki Zimmedariyan PDF Book : So Hindi language has to come forward to fulfill this duty. As far as Hindi speaking states are concerned, Hindi will not only have this duty as “language of information”, but in other states also, the ability to understand and explain the science of Hindi will prove to be useful because the languages ​​there can take advantage of the information received from Hindi. can. But to play this role, Hindi has to be more……
“आप जिस कार्य को कर रहे हैं उस पर पूरे मनोयोग से ध्यान केंद्रित करें। सूर्य की किरणों से उस समय तक अग्नि प्रज्जवलित नहीं होती है जब तक उन्हें केन्द्रित नहीं किया जाता है।” ‐ अलेक्जेंडर ग्राहम बैल
“Concentrate all your thoughts upon the work at hand. The sun’s rays do not burn until brought to a focus.” ‐ Alexander Graham Bell

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment