हिन्दू धर्म : स्वामी विवेकानन्द द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – धार्मिक | Hindu Dharm : by Swami Vivekanand Hindi PDF Book – Religious (Dharmik)

Book Nameहिन्दू धर्म / Hindu Dharm
Author
Category, , , , , , ,
Language
Pages 134
Quality Good
Size 5 MB

पुस्तक का विवरण : तब तो प्रश्न यही उठता है कि वह कौन सा एक बिंदु है, जहाँ पर इतनी विभिन्न दिशाओं में जाने वाली त्रिज्या रेखाएँ केन्द्रस्थ होती हैं ? वह कौन सा एक सामान्य आधार है, जिस पर ये इतने परस्पर विरोधी भासने वाले सब भाव आश्रित हैं ? मैं इसी प्रश्न का उत्तर देने का अब प्रयत्न करूँगा | हिन्दू जाति ने अपना धरम आप्तवाक्‍य वेदों से प्राप्त किया………

Pustak Ka Vivaran : Tab to Prashn yahi uthata hai ki vah kaun sa ek bindu hai, jahan par itani vibhinn dishayon mein jane vali trijya rekhayen kendrasth hoti hain ? Vah kaun sa ek samany aadhar hai, jis par ye itane paraspar virodhi bhasane vale sab bhav Aashrit hain ? Main isi prashn ka uttar dene ka ab prayatn karunga. Hindu jati ne apana dharam aaptavak‍ya vedon se prapt kiya………

Description about eBook : Then the question arises that which is the one point where the radii lines going in so many different directions are centripetal? What is the common ground on which all these seemingly contradictory expressions rest? I will now try to answer this question. The Hindu caste got its religion from the Vedas…….

“आप जितनी ज्यादा मेहनत करते हैं, उतने ही किस्मती बनते जाते हैं।” ‐ गैरी प्लेयर
“The harder you work, the luckier you get.” ‐ Gary Player

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment