सभी मित्र, हस्तमैथुन के ऊपर इस जरूरी विडियो को देखे और नाम जप की शक्ति को अपने जीवन का जरुरी हिस्सा बनाये
वीडियो देखें

हिंदी संस्कृत मराठी ब्लॉग

ईश्वर कौन है, कहाँ है, कैसा है / Ishvar Kaun Hai, Kahan Hai, Kaisa Hai

ईश्वर कौन है, कहाँ है, कैसा है : पं० श्रीराम शर्मा आचार्य वाड्मय द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - आध्यात्मिक | Ishvar Kaun Hai, Kahan Hai, Kaisa Hai : by Pt. Shri Ram Sharma Acharya Vadmay Hindi PDF Book - Spiritual (Adhyatmik)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name ईश्वर कौन है, कहाँ है, कैसा है / Ishvar Kaun Hai, Kahan Hai, Kaisa Hai
Author
Category, ,
Language
Pages 642
Quality Good
Size 608 MB
Download Status Available

सभी मित्र हस्तमैथुन के ऊपर इस जरूरी विडियो को देखे, ज्यादा से ज्यादा ग्रुप में शेयर करें| भगवान नाम जप की शक्ति को पहचान कर उसे अपने जीवन का जरुरी हिस्सा बनाये|

ईश्वर कौन है, कहाँ है, कैसा है का संछिप्त विवरण : ईश्वर शब्द बड़ा अभिव्यंजनात्मक है । सारी स्ष्टि में जिसका एश्वर्य छाया पड़ा हो, चारों ओर जिसका सौंदर्य दिखाई देता हो-स्रष्टि के हर कण में उसकी झाँकी देखी जा सकती हो, वह कितना ऐश्वर्यशाली होगा इसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती । इसीलिए उसे अचिन्त्य बताया गया है | इस सृष्टि में यदि हर वस्तु का कोई निमित्तकारण है-कर्त्ता है, तो वह ईश्वर है | वह बाजीगर की तरह अपनी सारी कठपुतलियों को…….

Ishvar Kaun Hai, Kahan Hai, Kaisa Hai PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Ishvar Shabd bada Abhivyanjanatmak hai . Sari Srashti mein Jiska eshvary chhaya pada ho, charon or jisaka saundary dikhayi deta ho-srashti ke har kan mein uski jhanki dekhi ja sakati ho, vah kitana Aishvaryashali hoga iski kalpana bhi nahin ki ja sakti. Isiliye use Achinty bataya gaya hai. Is Srashti mein yadi har vastu ka koi Nimittakaran hai-kartta hai, to vah Ishvar hai. Vah Bajigar ki tarah Apni sari kathaputaliyon ko……….
Short Description of Ishvar Kaun Hai, Kahan Hai, Kaisa Hai PDF Book : The word God is very expressive. Whose opulence is shadowed in the whole creation, whose beauty is visible all around – its glimpse can be seen in every particle of the universe, how majestic it will be, it cannot even be imagined. That is why he is said to be inconceivable. If everything in this universe has a cause and a doer, then it is God. Like a juggler, he makes all his puppets………..
“काम को सही करने से अधिक महत्त्वपूर्ण यह है कि सही काम ही किये जावें।” पीटर ड्रकर
“It is more important to do right thing than to do things right.” Peter Drucker

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Leave a Comment