जगत में जीव कितने है : स्वामी माधवतीर्थ द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – आध्यात्मिक | Jagat Mein Jeev Kitane Hain : by Swami Madhav Tirth Hindi PDF Book – Spiritual (Adhyatmik)

Book Nameजगत में जीव कितने है / Jagat Mein Jeev Kitane Hain
Author
Category, , ,
Language
Pages 41
Quality Good
Size 802 KB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : जगत में जीव कितने है और उनकी गिनती कैसे करनी है यह पहले निश्चय करना चाहिए। खटमल, मच्छर, मछली, डांस, चीटीं, मकखी, दीमक और दूसरे अनगिनत छोटे और सूक्ष्म जीव जो कि आँख से नहीं दिख सकते उनकी संख्या की गिनती बैठे तो गिनती संभव नहीं है। हररोज असंख्य उत्पन्न होते है……

Pustak Ka Vivaran : Jagat mein jeev kitane hai aur unakee ginatee kaise karanee hai yah pahale nishchay karana chahiye. khatamal, machchhar, machhalee, dans, cheeteen, makkhee, deemak aur doosare anaginat chhote aur sookshm jeev jo ki aankh se nahin dikh sakate unakee sankhya kee ginatee baithe to ginatee sambhav nahin hai. Hararoj asankhy utpann hote hai………….

Description about eBook : The number of creatures in the world and how to count them should be decided first. Counting numbers of bedbugs, mosquitoes, fish, dance, ants, flies, termites and other countless small and micro-organisms that cannot be seen by the eye is not possible. Heroes are numerous………..

“अपने ऊपर विश्वास रखें। जितना आप करते हैं उससे कहीं अधिक आप जानते हैं।” ‐ बेंजामिन स्पॉक
“Trust yourself. You know more than you think you do.” ‐ Benjamin Spock

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment