जातक कथाएं : श्री चन्द्रिकाप्रसाद मिश्र द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – धार्मिक | Jatak Kathayen : by Shri Chandrikaprasad Mishra Hindi PDF Book – Religious (Dharmik)

जातक कथाएं : श्री चन्द्रिकाप्रसाद मिश्र द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - धार्मिक | Jatak Kathayen : by Shri Chandrikaprasad Mishra Hindi PDF Book - Religious (Dharmik)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name जातक कथाएं / Jatak Kathayen
Author
Category
Language
Pages 143
Quality Good
Size 6 MB
Download Status Available

जातक कथाएं पुस्तक का कुछ अंश : भगवान बुद्ध का प्रसिद्ध विरोधी भाई और शिष्य देवदत्त मगध की राजधानी पाटलीपुत्र में ही एक शानदार भवन में रहता था | उसने आरम्भ में बुद्ध को नीचा दिखाने के लिये बड़े ऊँचे-ऊँचे सिद्धांतो की घोषणा की जिन पर आचरण कर सकना संभव न हो सका | अंत में राजा की कृपा से अपने संघ के ५०० भिक्षुओं की व्यवस्था करके वह भिक्षु जगत में बदनाम हो गया……

Jatak Kathayen PDF Pustak in Hindi Ka Kuch Ansh : Bhagwan Buddh ka prasiddh virodhi bhai aur shishy Devdatt magadh ki rajdhani Patliputr mein hi ek shandaar bhavan mein rahta tha. Usne aarambh mein buddh ko nicha dikhane ke liye bade unche-unche siddhanto ki ghoshna ki jin par aacharan kar sakna sambhav na ho saka. Ant mein raja ki krpa se apne sangh ke 500 bhikshuon ki vyavastha karke vah bhikshu jagat mein badnam ho gaya…………
Short Passage of Jatak Kathayen Hindi PDF Book : Lord Buddha’s famous anti-brother and disciple Devadatta lived in a splendid building in Patliputra, the capital of Magadha. Initially, he announced the high principles of the Buddha to show humility which could not be possible. In the end, by the grace of the king, arranging 500 monks of his union, he became infamous in the monk world……………
“इस दुनिया में कौन आज़ाद है? वह बुद्धिमान व्यक्ति जो स्वयं पर नियत्रंण रखता है।” – होरेस
“Who then is free? The wise man who can command himself.” – Horace

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment