झूठा सच (देश का भविष्य) : यशपाल द्वारा मुफ्त हिंदी उपन्यास पीडीएफ पुस्तक | Jhootha Sach (Desh Ka Bhavishya) : by Yashpal Free Hindi Novel PDF Book

झूठा सच (देश का भविष्य) : यशपाल द्वारा मुफ्त हिंदी उपन्यास पीडीएफ पुस्तक | Jhootha Sach (Desh Ka Bhavishya) : by Yashpal Free Hindi Novel PDF Book
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name झूठा सच (देश का भविष्य) / Jhootha Sach (Desh Ka Bhavishya)
Author
Category,
Language
Pages 611
Quality Good
Size 11 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : पंडित जी ने सैय्यद के मकान खाली करने से पहले ही अपना सामान और अपनी पत्नी को मकान में पहुँचा दिया था| उन्हीं ने कुछ ही घंटों में, हिन्दू धर्म के नाते बजरंग से आत्मीयता स्थापित कर ली| अब तक बजरंग अपने मालिक की सेवा-रक्षा कर रहा था परंतु उस मालिक के हाथ…………

Pustak Ka Vivaran : Pandit ji ne saiyyad ke makan khali karne se pahale hi apna saman aur apni patni ko makan mein pahuncha diya tha. Unheen ne kuchh hi Ghanton mein, hindu dharm ke nate bajrang se Aatmeeyata sthapit kar li. Ab tak bajrang apne malik ki seva-raksha kar raha tha parantu us malik ke hath………

Description about eBook : Pandit ji had delivered his belongings and his wife to the house even before Syed vacated the house. Within a few hours, he established intimacy with Bajrang as a Hindu religion. Till now Bajrang was serving and protecting his master but in the hands of that master………

“जो बीत गया है उसकी परवाह न करें, जो आने वाला है उसके स्वप्न न देखें, अपना ध्यान वर्तमान पर लगाएं।” ‐ बुद्ध
“Do not dwell in the past, do not dream of the future, concentrate the mind on the present moment.” ‐ Buddha

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment