लिटिल वन इंच : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Little One Inch : Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

Book Nameलिटिल वन इंच / Little One Inch
Author
Category, , , ,
Language
Pages 17
Quality Good
Size 894 KB
Download Status Available

लिटिल वन इंच का संछिप्त विवरण : जीव बहुत उदास हो जाता है। वह कहता है, “मैं तो शान्त प्राणी हू में किसी को भी नुकसान नहीं पहुँचाता ह्‌ | लिटिल वन इंच यह सब सुनकर कुछ सोचने लग जाता है। जैसे वह जीव सबसे अलग हे वैसे लिटिल वन इंच भी। फिर लिटिल वन इंच उस जीव के पैरों में बंधा धागा खोल देता है क्योंकि लिटिल वन इंच इतना छोटा था, वह उस बड़े जीव की नज़रों ……….

 

Little One Inch PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Jeev Bahut Udas ho Jata hai. Vah Kahata hai, “Main to Shant Prani hoo mein kisi ko bhee Nukasan nahin Pahunchata h‌ .” Little van Inch yah sab sunkar kuchh sochane lag jata hai. Jaise vah jeev sabase Alag hai vaise litil van inch bhee. Phir Little van inch us jeev ke pairon mein bandha dhaga khol deta hai kyonki little van Inch itana chhota tha, vah us bade jeev kee Nazaron ………
Short Description of Little One Inch PDF Book : The creature becomes very depressed. He says, “I do not harm anyone in a peaceful being.” Little One Inch listens and starts thinking about it. Just as that creature is different, so is the little one inch. Then the Little One Inch opens the thread tied in the feet of that creature because the Little One Inch was so small, it is the eyes of that big creature …….
“श्रेष्ठ व्यक्ति बोलने में संयमी होता है लेकिन अपने कार्यों में अग्रणी होता है।” कंफ्यूशियस
“The superior man is modest in his speech, but exceeds in his actions.” Confucius

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment