महावीर निर्वाण और दिवाली हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Mahaveer Nirvaan Aur Diwali Hindi PDF Book

Book Nameमहावीर निर्वाण और दिवाली / Mahaveer Nirvaan Aur Diwali
Category, , , ,
Pages 22
Quality Good
Size 253 KB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : प्यारे वीरपुत्रों। यह जो दिवाली पर्व है इसका ज्ञातृ पुत्र महावीर प्रभु निवारण साथ क्या सम्बद्ध हे? इसे निवदित करने के लिए और जिज्ञातनादन चार प्रमुक उत्तम जीवन से हम सबको क्या बोध ग्रहण करना चाहिए ? इसे विचारन की आज हमारे प्रबल इच्छा है। दिवाली का प्रसंग प्रति वर्ष आता है और चला जाता है……….

Pustak Ka Vivaran : Pyare veeraputron. yah jo divaalee parv hai isaka gyaatr putr mahaaveer prabhu nivaaran saath kya sambaddh hai? ise nivadit karane ke lie aur jigyaatanaadan chaar pramuk uttam jeevan se ham sabako kya bodh grahan karana chaahie? ise vichaaran kee aaj hamaare prabal ichchha hai. divaalee ka prasang prati varsh aata hai aur chala jaata hai………….

Description about eBook : Dear sons What is the affiliation of Lord Mahavir Lord Nirvana, the son of the Diwali festival? To get rid of this, and what should we all understand from the four primal virtues of jigatanadanadan? It is our strong desire today to ask it. The Diwali episode comes every year and goes…………..

“अपने शब्दों को ऊंचा करें, आवाज़ को नहीं। फूल बादलों के बरसने से खिलते हैं, गरजने से नहीं। ” – जलालुद्दीन रुमी
“Raise your words, not your voice. It is rain that grows the flowers, not thunder. ” – Jalaluddin Rumi

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment