मयमतम : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – वास्तु शास्त्र | Mayamatam : Hindi PDF Book – Vastu Shastra

मयमतम : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - वास्तु शास्त्र | Mayamatam : Hindi PDF Book - Vastu Shastra
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name मयमतम / Mayamatam
Category,
Language
Pages 230
Quality Good
Size 5 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : सर्वस्व के ज्ञाता, संसार के स्वामी देवता को सिर झुका कर प्रणाम करने के पश्चात्‌ मै (मय) ने उनसे (वास्तुशास्त्र से सम्बंधित) प्रश्न किया एवं उनसे पर्याप्त शास्त्र -श्रवण करने के पश्चात क्रमानुसार उस शास्त्र का उपदेश करता हूँ | देवो एवं मनुष्यों के सभी प्रकार के वास्तु अदि (भूमि ,भवन एवं उपस्कर अदि……….

Pustak Ka Vivaran : Sarvasv ke gyata, sansar ke svaamei devta ko sir jhuka kar pranam karne ke pashchat mai ( may) ne unse (vaastushastr se sambandhit) prashn kiya evan unse paryapt shastr -shravan karne ke pashchat kramaanusar us shastr ka upadesh karta hun. Devo evan manushyon ke sabhei prakar ke vastu adi (bhoomi ,bhavan evan upaskar adi )…………

Description about eBook : After bowing his head to the lord of the universe, the lord of the world, bowed his head, I (Maya) questioned him (related to Vastu Shastra) and after doing enough Shastra-Sravana to him, I preach that scripture in chronological order. All types of Vastu etc. of Gods and humans (land, buildings and equipment etc.)………………

“मैं मानवता से हैरान हूँ। क्योंकि मनुष्य पैसा कमाने के लिए अपने स्वास्थ्य को बलिदान करता है। फिर अपने स्वास्थ्य को पाने के लिए वह धन खर्च करता है। वह भविष्य के बारे में इतना चिंतित रहता है कि वर्तमान का आनंद नहीं लेता है; नतीजा यह होता है कि वह न वर्तमान में और न भविष्य में जीता है; वह ऐसे जीता है जैसे कि कभी मरने वाला नहीं है, और फिर मरता है जैसे वास्तव में कभी जिया ही नहीं हो।” ‐ दलाई लामा
“I am surprised by humanity. Because a man sacrifices his health in order to make money. Then he sacrifices money to recuperate his health. And then he is so anxious about the future that he does not enjoy the present; the result being that he does not live in the present or the future; he lives as if he is never going to die, and then dies having never really lived.” ‐ Dalai Lama

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

3 thoughts on “मयमतम : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – वास्तु शास्त्र | Mayamatam : Hindi PDF Book – Vastu Shastra”

    • नमस्कार, पुस्तक भली-भांति डाउनलोड हो रही है आपसे अनुरोध है कि आप पेज को रिफ्रेश करें ओर पुस्तक डाउनलोड करें| पेज को नीचे तक देखें डाउनलोड का बटन आपको दिख जायेगा यदि हो सके तो पेज पर दी गयी जानकारियों को भी अवश्य पढ़ें| धन्यवाद्!

      Reply

Leave a Comment