नानी का चश्मा : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Nani Ka Chashma : Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

Book Nameनानी का चश्मा / Nani Ka Chashma
Author
Category, , , ,
Language
Pages 19
Quality Good
Size 718 KB
Download Status Available

नानी का चश्मा का संछिप्त विवरण : रमा ने नानी की मेज़ पर किताबों के बीच में चश्मा ढूँढ़ा। नानी मेज़ पर बैठकर अखबार और किताबें पढ़ती हैं। वह अक्सर किताबों के बीच में चश्मा छोड़ देती हें। चश्मा मेज़ पर नहीं था। रमा ने चश्मा गुसलखाने में ढूंढा। गुसलखाने में बहुत सारे कपडे पड़े हुए थे। नानी कभी-कभी चश्मा गुसलखाने में छोड़ देती है। चश्मा गुसलखाने में भी नहीं था……..

Nani Ka Chashma PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Rama ne Nani kee mez par kitabon ke beech mein chashma dhoondha. Nani mez par baithakar Akhabar aur kitaben padhatee hain. Vah Aksar kitabon ke beech mein chashma chhod detee hen. Chashma mez par nahin tha. Rama ne chashma gusalakhane mein dhoondha. Gusalakhane mein bahut sare kapade pade huye the. Nani kabhee-kabhee chashma Gusalakhane mein chhod deti hai. Chashma Gusalkhane mein bhee nahin tha…………….
Short Description of Nani Ka Chashma PDF Book : Rama finds glasses on the nanny’s table in the middle of the books. Nani sits at the table and reads newspapers and books. She often leaves glasses in the middle of books. The glasses were not on the table. Rama found the glasses in the bathroom. There were many clothes lying in the bathroom. The grandmother sometimes drops glasses in the bathroom. The glasses were not even in the bathroom …………….
“आइये उन व्यक्तियों के प्रति आभार व्यक्त करें जो हमें प्रसन्न बनाते हैं।” ‐ मार्सल प्रोसाउट
“Let us be grateful to people who makes us happy.” ‐ Marcel Proust

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment