पन्त का काव्य और युग : यशदेव | Pant Ka Kavya Aur Yug by Yashdev Hindi PDF Book

पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name पन्त का काव्य और युग / Pant Ka Kavya Aur Yug
Author
Category, ,
Language
Pages 401
Quality Good
Size 25 MB
Download Status Available

पन्त का काव्य और युग पुस्तक का कुछ अंशजैसा कि पुस्तक के नाम से ही स्पष्ट है, इसमें पन्त-काव्य के साथ-साथ युग का भी अध्ययन विस्तार से किया गया है| वास्तव में मुझे युग के अध्ययन पर ही अधिक महत्व है| युग सम्बन्धी ये निबन्ध एक श्रंखला में है अतः इन्हें क्रम से पढना आवश्यक है………….

Pant Ka Kavya Aur Yug PDF Pustak in Hindi Ka Kuch Ansh : Jaisa ki Pustak ke nam se hee spasht hai, isamen pant-kavy ke sath-sath yug ka bhee adhyayan vistar se kiya gaya hai| vastav mein mujhe yug ke adhyayan par hee adhik mahatv hai| yug sambandhee ye nibandh ek shrankhala mein hai atah inhen kram se padhana aavashyak hai………….
Short Passage of Pant Ka Kavya Aur Yug Hindi PDF Book : As it is clear from the name of the book, along with Pant-Kavya, the study of the era has also been done in detail. In fact, I give more importance to the study of the era itself. These essays related to era are in a series, so it is necessary to read them in sequence……….
“अपने दिल दिमाग के थोड़े से भी हिस्से से आप बुराइयों को निकाल बाहर कीजिए, तुरंत उस रिक्त स्थान को सृजनात्मकता भर देगी।” डी हॉक
“Clean out a corner of your mind and creativity will instantly fill it.” Dee Hock

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment