पुलिस और हम : विष्णु नागर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Police Aur Ham : by Vishnu Nagar Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

Book Nameपुलिस और हम / Police Aur Ham
Author
Category, , ,
Language
Pages 8
Quality Good
Size 3.2 MB
Download Status Available

पुलिस और हम का संछिप्त विवरण : बिल्कुल नहीं ले जा सकती । 5 साल से कम उम्र के लड़कों और औरतों को पूछताछ के लिए पुलिस थाने नहीं ले जा सकती। किसी भी औरत से उसके घर पर ही सवाल-जवाब किये जा सकते हैं। क्या पुलिस कभी भी पूछताछ के लिए किसी के घर पर आ सकती है? आ तो सकती है। लेकिन आपको लगता है कि पुलिस आपको तंग करने के लिए ऐसा कर रही है तो आप मजिस्ट्रेट से शिकायत कर सकते हैं । मजिस्ट्रेट पुलिस के आने का समय तय करेगा…….

Police Aur Ham PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Bilkul Nahin le ja Sakati . 5 sal se kam umr ke ladakon aur Auraton ko Poochhatachh ke liye Police thane nahin le ja sakati. Kisi bhee aurat se usake ghar par hee saval-javab kiye ja sakate hain. Kya Police kabhi bhee Poochhatachh ke liye kisi ke ghar par aa sakati hai? Aa to Sakati hai. Lekin Aapako lagata hai ki Police aapako tang karane ke liye aisa kar rahi hai to aap Majistret se shikayat kar sakate hain . Majistret Police ke Aane ka samay tay karega………….
Short Description of Police Aur Ham PDF Book : Can not move at all. Boys and women below 5 years of age cannot be taken to the police station for questioning. Questions can be answered from any woman at her home. Can the police ever come to someone’s house for questioning? Can come. But if you think the police is doing this to harass you, then you can complain to the magistrate. The magistrate will decide the time of arrival of the police …………
“प्रत्येक शिशु एक संदेश लेकर आता है कि भगवान मनुष्य को लेकर हतोत्साहित नहीं है।” – रविन्द्रनाथ टैगोर
“Every child comes with the message that God is not yet discouraged of man.” – Rabindranath Tagore

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment