प्रभु मिलन की राह- महाराज आनंद स्वामी जी मुफ्त हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक | Prabhu Milan Ki Rah- Maharaj Anand Swami Ji Hindi Book Free Download

पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name प्रभु मिलन की राह / Prabhu Milan Ki Rah
Category,
Language
Pages 227
Quality Good
Size 5 MB
Download Status Available

प्रभु मिलन की राह पुस्तक का कुछ अंश : गाँव के एक बडे-बूढे ने कहा, “हमारे गाँव के चौधरी जी का देहान्त हो गया है। उन्होने वसीयत की थी कि मेरे आधे ऊँट मेरे लडके की दे दिये जाएँ, चौथा भाग मेरे नौकर को और पाँचवाँ भाग मेरी नौकरानो को । हम दिमाग लडाकर थक गए किन्तु किसी निर्णय पर नही पहुँच सके । इसमे आपकी सहायता चाहिए…….

Prabhu Milan Ki Rah PDF Pustak in Hindi Ka Kuch Ansh : Ganv ke ek bade-boodhe ne kaha, “Hamare Ganv ke chaudhary jee ka dehant ho gaya hai. Unhone vasiyat ki thi ki mere aadhe oont mere ladake kee de diye jayen, chautha bhag mere naukar ko aur panchavan bhag meri naukarano ko. Ham Dimag ladakar thak gaye kintu kisi nirnay par nahi pahunch sake. Isame aapake sahayata chaahie…….
Short Passage of Prabhu Milan Ki Rah Hindi PDF Book : An elder of the village said, “The Chaudhary ji of our village has passed away. He had willed that half of my camels should be given to my son, the fourth part to my servant and the fifth part to my maidservants. We got tired of fighting our brains but could not reach any decision. Need your help in this……
“रोष एक बोझ है जो आपकी सफलता के साथ असंगत है। क्षमा करने में अव्वल रहें; और अपने आपको सबसे पहले क्षमा करें।” डेन जाड्रा
“Resentment is one burden that is incompatible with your success. Always be the first to forgive; and forgive yourself first always.” Dan Zadra

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment