प्रथम और अंतिम मुक्ति : जे. कृष्णमूर्ति द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – प्रेरक | Pratham Aur Antim Mukti : by J. Krishnamurty Hindi PDF Book – Motivational (Prerak)

प्रथम और अंतिम मुक्ति : जे. कृष्णमूर्ति द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – प्रेरक | Pratham Aur Antim Mukti : by J. Krishnamurty Hindi PDF Book – Motivational (Prerak)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name प्रथम और अंतिम मुक्ति / Pratham Aur Antim Mukti
Author
Category,
Language
Pages 224
Quality Good
Size 2 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : वास्तव में वह क्या है जिसे कृष्णमूर्ति हमारे सामने रखते हैं? वह सच में हे क्या, जिसे हम चाहें तो ले सकते हैं, लेकिन संभावना इसी की अधिक है कि उसे हम लेना ही पसंद न करें। जैसा कि हमने देखा, वह न तो विश्वासों की कोई प्रणाली या रूढ़ सिद्धांतों की कोई सूची है, न बने-बनाये विचारों एवं आदर्शों का कोई ढांचा। वे न तो कोई नेतृत्व……

Pustak Ka Vivaran : Vastav mein vah k‍ya hai jise Krishnamurti hamare samane rakhate hain? Vah sach mein hai kya, jise ham chahen to le sakate hain, lekin Sambhavana isi ki adhik hai ki use ham lena hi pasand na karen. Jaisa ki hamane dekha, vah na to vishvason ki koi Pranali ya roodh siddhanton ki koi soochi hai, na bane-banaye vicharon evan Aadarshon ka koi dhancha. Ve na to koi Netrtv……….

Description about eBook : What exactly is it that Krishnamurti puts before us? What is it really, which we can take if we want, but the chances are high that we do not like to take it. As we have seen, it is neither a system of beliefs nor a list of orthodox principles, nor a set of ready-made ideas and ideals. They are neither any lead………..

“मैं अपने भाग्य का नियंत्रक हूं, मैं अपनी आत्मा का नियंता हूं।” ‐ विलियम अर्न्स्ट हेन्ले
“I am the master of my fate; I am the captain of my soul.” ‐ William Ernest Henley

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment