प्रेतनी का मायाजाल : राजीव कुलश्रेष्ठ द्वारा मुफ्त हिंदी पीडीएफ पुस्तक | Pretani Ka Mayajal : by Rajeev Kulshreshtha Free Hindi PDF Book

Book Nameप्रेतनी का मायाजाल / Pretani Ka Mayajal
Author
Category, ,
Language
Pages 48
Quality Good
Size 446 KB
Download Status Available

प्रेतनी का मायाजाल का संछिप्त विवरण : लेखकीय- बहुत कम लोग इस अज्ञात तथ्य से परिचित होंगे कि पृथ्वी पर होने वाली सभी अकाल मृत्यु और स्वाभाविक मृत्यु के बाद तीस प्रतिशत लोग ‘प्रेतगति’ को प्राप्त होते हैं| इसमें अकाल मृत्यु वालों का दस से पंद्रह प्रतिशत होता है और लगभग पन्द्रह से बीस प्रतिशत ही स्वाभाविक मृत्यु से मरे लोगों का होता है……….

Pretani Ka Mayajal PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Lekhakiy- bahut kam log is Agyat tathy se parichit honge ki prithvi par hone valee sabhi akal mrityu aur svabhavik mrtyu ke bad tees pratishat log ‘Pretagati’ ko prapt hote hain. Isamen akal mrtyu valon ka das se pandrah pratishat hota hai aur lagbhag pandrah se bees pratishat hi svabhavik mrtyu se mare logon ka hota hai…….
Short Description of Pretani Ka Mayajal PDF Book : Author – Very few people will be aware of this unknown fact that after all the premature death and natural death on earth, thirty percent of the people attain ‘Pretgati’. It accounts for ten to fifteen percent of those who die of premature death and only about fifteen to twenty percent of those who die of natural death………
“चुनौतियां जीवन को अधिक रुचिकर बनाती है; और उन्हें दूर करना जीवन को अर्थपूर्ण बनाता है।” ‐ जोशुआ मैरिन
“Challenges are what make life interesting; overcoming them is what makes life meaningful.” ‐ Joshua Marine

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

2 thoughts on “प्रेतनी का मायाजाल : राजीव कुलश्रेष्ठ द्वारा मुफ्त हिंदी पीडीएफ पुस्तक | Pretani Ka Mayajal : by Rajeev Kulshreshtha Free Hindi PDF Book”

Leave a Comment