प्रीति कथा : नरेन्द्र कोहली द्वारा मुफ्त हिंदी पीडीएफ पुस्तक | Priti Katha : by Narendra Kohli Free Hindi PDF Book

Category
पुस्तक का डाउनलोड लिंक नीचे हरी पट्टी पर दिया गया है|
“मित्र वे दुर्लभ लोग होते हैं जो हमारा हालचाल पूछते हैं और उत्तर सुनने को रुकते भी हैं।” ‐ एड कनिंघम
“Friends are those rare people who ask how we are and then wait to hear the answer.” ‐ Ed Cunningham

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

प्रीति कथा : नरेन्द्र कोहली द्वारा मुफ्त हिंदी पीडीएफ पुस्तक | Priti Katha : by Narendra Kohli Free Hindi PDF Book 

( Download Link Given Below / डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया हैं )
priti-katha-narendra-kohli-प्रीति-कथा-नरेन्द्र-कोहली

पुस्तक का नाम / Name of Book : प्रीति कथा / Priti Katha

पुस्तक के लेखक / Author of Book : नरेन्द्र कोहली / Narendra Kohli

पुस्तक की भाषा / Language of Book : हिंदी / Hindi

पुस्तक का आकर / Size of Ebook : 6.2 MB

कुल पन्ने / Total pages in ebook : 203

पुस्तक डाउनलोड स्थिति / Ebook Downloading Status  : Best 

(Report this in comment if you are facing any issue in downloading / कृपया कमेंट के माध्यम से हमें पुस्तक के डाउनलोड ना होने की स्थिति से अवगत कराते रहें )

पुस्तक का विवरण : पेट्रोल पंप की भीड़ देखकर विनीत का माथा ठनका: पहुँचने में अवश्य ही देर हो जायेगी| यह देश तो बस अब या तो पंक्ति का देश है या भीड़ का| जहाँ भी जाओ, या तो लम्बी-सी पंक्ति होगी, जो आगे सरकने पर ही नहीं आती या फिर बेतरतीब भीड़ होगी- पहलवान मार्का लोगों की भीड़| धक्का-मुक्का| शोर-शराबा| विनीत को लगता है कि न तो उसमें लंबी पंक्ति में खड़े होकर अपनी बारी की प्रतीक्षा करने का धैर्य है और न धक्का-मुक्की कर पाने की क्षमता…………..

अन्य उपन्यास पुस्तकों के लिए यहाँ दबाइए-  “हिंदी उपन्यास पुस्तक”

Description about eBook : Seeing the crowd of petrol pumps, Vineet’s forehead stops: It will be late to reach. This country is just now the land of the line or the crowd. Wherever you go, there will be a long line, which will not come forward only, or there will be random crowds – crowds of people like wrestler. Push-punch Noisy Unobtrusive feels that neither is it the patience to wait for its turn by standing in a long line and not the ability to push………………..

To read other Novel books click here- “Hindi Novel Books”


सभी हिंदी पुस्तकें ( Free Hindi Books ) यहाँ देखें



इस पुस्तक को दुसरो तक पहुचाएं 

श्रेणियो अनुसार हिंदी पुस्तके यहाँ देखें 

One Quotation / एक उद्धरण
“रुकावटें वे भयावह वस्तुएं हैं जो आप उस समय देखते हैं जब आप अपने लक्ष्य से ध्यान हटा लेते हैं।”

– अज्ञात


——————————–
“Obstacles are those frightful things you see when you take your eyes off your goals.”
– Anonymous


Leave a Comment