राज सिंह भाग – १ : आचार्य चतुरसेन शास्त्री द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – कहानी | Raj Singh Part -1 : by Acharya Chatursen Shastri Hindi PDF Book – Story (Kahani)

राज सिंह भाग - १ : आचार्य चतुरसेन शास्त्री द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - कहानी | Raj Singh Part -1 : by Acharya Chatursen Shastri Hindi PDF Book - Story (Kahani)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name राज सिंह भाग – १ / Raj Singh Part -1
Author
Category,
Language
Pages 232
Quality Good
Size 6.48 MB
Download Status Available

राज सिंह भाग – १ पुस्तक का कुछ अंश : राजस्थान के पहाड़ी प्रदेशो में रूपनगर नाम का एक छोटा-सा राज्य था | राज्य छोटा हो या बड़ा, उसका एक राजा होता ही है | रूपनगर का भी राजा था, किन्तु राज्य छोटा होने पर भी राजा का नाम बड़ा होने में कोई आपत्ति नहीं-रूपनगर के राजा का नाम विक्रमसिंह था | विक्रमसिंह का और भी परिचय बाद में दिया जायेगा…….

Raj Singh Part -1 PDF Pustak in Hindi Ka Kuch Ansh : Rajasthan ke pahadi pradesho mein Rupanagar naam ka ek chhota-sa rajy tha. Rajy chhota ho ya bada, uska ek raja hota hi hai. Rupnagar ka bhi raja tha, kintu rajy chhota hone par bhi raja ka naam bada hone mein koi aapatti nahin-Rupnagar ke raja ka naam Vikramsinh tha. Vikramsinh ka aur bhi parichay baad mein diya jayega…………
Short Passage of Raj Singh Part -1 Hindi PDF Book : There was a small state of Rupnagar in the hill states of Rajasthan. The state is small or big, it has only one king. Rupnagar was also king, but even when the state is small, there is no objection to the name of the king, but the name of the king of Rupnagar was Vikramsingh. Further introduction of Vikram Singh will be given later…………..
“सफल होने के लिए असफलता आवश्यक है, ताकि आपको यह पता चल सके कि अगली बार क्या नहीं करना है।” एंथनी जे. डिएन्जेलो
“In order to succeed you must fail, so that you know what not to do the next time.” Anthony J. D’Angelo

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment