राजा राममोहन राय एवं केशवचन्द्र सेन के सामाजिक तथा राजनीतिक विचारों का एक तुलनात्मक अध्ययन : मीना शर्मा द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – इतिहास | Raja Ram Mohan Ray Evan Keshavchandra Sen Ke Samajik Tatha Rajnitik Vicharon Ka Ek Tulnatmak Adhyayan : By Meena Sharma Hindi PDF Book – History (Itihas)

Book Nameराजा राममोहन राय एवं केशवचन्द्र सेन के सामाजिक तथा राजनीतिक विचारों का एक तुलनात्मक अध्ययन / Raja Ram Mohan Ray Evan Keshavchandra Sen Ke Samajik Tatha Rajnitik Vicharon Ka Ek Tulnatmak Adhyayan
Author
Category, ,
Language
Pages 144
Quality Good
Size 19.5 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : औरंगजेब की मृत्यु के पश्चात्‌ ही सम्पूर्ण देश में अव्यवस्था तथा अराजकता का बोलबाला था | देश में एक शक्तिशाली केद्रीय सत्ता के आभाव में राष्ट्रवाद के मूल तत्वों का नाश हो गया था | इसी समय यूरोप में औधोगिक विकास तथा व्यावसायिक क्रान्ति से लाभान्वित तथा नए….

Pustak Ka Vivaran : Aurangajeb ki Mrtyu ke Pashchat hi Sampurn desh Mein Avyavastha tatha Arajakata ka bolabala tha. Desh mein Ek Shaktishali kendriy Satta ke Abhav Mein Rashtravad ke mool Tatvon ka Nash ho gaya tha. Isi Samay Europ mein Audhogik Vikas Tatha Vyavasayik kranti se labhanvit Tatha nayi………….

Description about eBook : After Aurangzeb’s death, the whole country was dominated by chaos and chaos. In the absence of a powerful central power in the country, the fundamental elements of nationalism were destroyed. At the same time, industrial growth and commercial revolution in Europe benefited and new…………..

“हमें जो मिलता है उससे हमारा जीवन निर्वाह होता है, लेकिन हम जो देते हैं उससे जीवन निर्माण होता है।” ‐ विंस्टन चर्चिल
“We make a living by what we get, but we make a life by what we give.” ‐ Winston Churchill

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment