रुद्राक्ष महामात्य और धारण विधि : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – ग्रन्थ | Rudraksh Mahamatya Aur Dharan Vidhi : Hindi PDF Book – Granth

रुद्राक्ष महामात्य और धारण विधि : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - ग्रन्थ | Rudraksh Mahamatya Aur Dharan Vidhi : Hindi PDF Book - Granth
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name रुद्राक्ष महामात्य और धारण विधि / Rudraksh Mahamatya Aur Dharan Vidhi
Author
Category, , ,
Language
Pages 84
Quality Good
Size 13.4 MB
Download Status Available

रुद्राक्ष महामात्य और धारण विधि का संछिप्त विवरण : नोमुखी वाले रुद्राक्ष का नाम भेरव है। इसे बाई भुजा में धारण करना चाहिए। इसे धारण करने वाले को भुक्ति-मुक्ति की प्राप्ति होती है और उसका बल मेरे तुल्य हो जाता है। हजारों भ्रूण (गर्भहत्या) और सैकड़ों ब्रह्महत्या नौमुखी रुद्राक्ष के धारण करने से शीघ्र ही नाश हो जाती है ………

Rudraksh Mahamatya Aur Dharan Vidhi PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Naumukhee vale rudraksh ka nam bhairav hai. Ise bai bhuja mein dharan karana chahiye. Ise dharan karane vale ko bhukti-mukti kee prapti hoti hai aur usaka bal mere tuly ho jata hai. Hajaron bhroon (garbhahatya) aur saikadon brahmahatya naumukhee rudraksh ke dharan karane se sheeghr hee nash ho jati ha…………
Short Description of Rudraksh Mahamatya Aur Dharan Vidhi PDF Book : The name of the Rudraksh with the nine-faced is Bhairava. It should be worn in the left arm. The one wearing it gets freedom from salvation and its strength becomes like me. Thousands of fetuses (miscarriages) and hundreds of Brahmanas are destroyed soon after wearing the nine-headed Rudraksha………
“ज़िंदगी तो कुल एक पीढ़ी भर की होती है, पर नेक काम पीढ़ी दर पीढ़ी चलता है।” ‐ जापानी कहावत
“Life is for one generation; a good name is forever.” ‐ Japanese Proverb

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment