सात सूरज सत्तावन तारे : सूर्यनाथ सिंह द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Saat Suraj Sattavan Tare : by Surynath Singh Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

Book Nameसात सूरज सत्तावन तारे / Saat Suraj Sattavan Tare
Author
Category, ,
Language
Pages 84
Quality Good
Size 20 MB
Download Status Available

सात सूरज सत्तावन तारे का संछिप्त विवरण : अब विमान चालक हवा भरे कपड़े के गुब्बारेनुमा घर के सामने था। जैसे पृथ्वी पर मेलों में बच्चों के उछलने के लिए मिकी-माउस वाले गुब्बारे लगाए जाते हैं, कुछ उसी तरह का घर । उस घर के मोटे कपड़े से बने अर्थ गोलाकार दरवाज़े से कुछ विचित्र किस्म की लाल-नीली-पीली रोशनी निकल रही थी……..

Saat Suraj Sattavan Tare PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Ab Viman chalak hava bhare kapade ke Gubbarenuma ghar ke samane tha. Jaise Prthvi par melon mein bachchon ke uchhalane ke liye miki-maus vale Gubbare lagaye jate hain, kuchh usi tarah ka ghar . Us Ghar ke mote kapade se bane arth golakar daravaze se kuchh vichitra kism kee Lal-Neeli-Peeli Roshani Nikal rahi thee……..
Short Description of Saat Suraj Sattavan Tare PDF Book : Now the pilot was in front of the air-clad balloon house. Just like mickey-mouse balloons are used to make children jump in fairs on Earth, some similar house. Some strange red-blue-yellow light was emanating from that house made of thick cloth meaning circular door ………
“दूसरों की पुष्टि पर निर्भर करने की तुलना में स्वयं को जानने तथा स्वीकार करने- अपनी शक्तियों तथा अपनी सीमाओं को जान लेने से वास्तविक विश्वास की उत्पत्ति होती है।” ‐ जूडिथ एम. बार्डविक
“Real confidence comes from knowing and accepting yourself – your strengths and your limitations – in contrast to depending on affirmation from others.” ‐ Judith M. Bardwick

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment