समाज सेवा और इस्लाम धर्म मुफ्त हिंदी पीडीएफ पुस्तक | Samaaj Sewa aur Islam Dharm (Social Service in Islam) Free Hindi Pdf Book | 44 Books

Book Nameसमाज सेवा और इस्लाम धर्म / Samaaj Sewa aur Islam Dharm
Category, ,
Language
Pages 61
Quality Good
Size 47.4 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : यही बच्चा यदि किसी धनवान, शासक, पूँजीपति अथवा ज़मींदार का हो तो उसकी सेवा भी उसी स्तर की होती है। उसकी आवश्यकताएँ तथा माँगें बड़ी सतर्कता के साथ पूरी की जाती हैं। उसकी साधारण-सी तकलीफ़ पर भी माँ-बाप, स्वजन तथा निकटतम सम्बन्धियों के अतिरिक्त सेवकों तथा दाइयों की टीम की टीम गतिशील हो जाती है तथा उसे चैन एवं आराम पहुँचाने का हर संभव प्रयत्न होने लगता है……….

Pustak Ka Vivaran : Yahi bachcha yadi kisi dhanvan, shasak, poonjeepati athava zameendar ka ho to uski seva bhi usi star ki hoti hai. Uski Aavashyakatayen tatha maangen badi satarkata ke sath poori ki jati hain. Uski sadharan-si takleef par bhi man-bap, svajan tatha nikatatam sambandhiyon ke atirikt sevakon tatha daiyon ki teem ki teem gatisheel ho jati hai tatha use chain evan aaram pahunchane ka har sambhav prayatn hone lagata hai.

Description about eBook : Description of the book: If this child belongs to a rich, ruler, capitalist or landowner, then his service is also of the same level. His needs and demands are met with great care. In spite of his simple trouble, the team of servants and midwives in addition to parents, relatives and close relatives becomes dynamic and every effort is made to make him feel at peace and comfort…….

“कल तो चला गया। आने वाले कल अभी आया नहीं है। हमारे पास केवल आज है। आईये शुरुआत करें।” ‐ मदर टेरेसा
“Yesterday is gone. Tomorrow has not yet come. We have only today. Let us begin.” ‐ Mother Teresa

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment