समय एक शब्द भर नहीं है : धीरेन्द्र अस्थाना द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – उपन्यास | Samay Ek Shabd Bhar Nahin Hai : by Dheerendra Asthana Hindi PDF Book – Novel (Upanyas)

समय एक शब्द भर नहीं है : धीरेन्द्र अस्थाना द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - उपन्यास | Samay Ek Shabd Bhar Nahin Hai : by Dheerendra Asthana Hindi PDF Book - Novel (Upanyas)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name समय एक शब्द भर नहीं है / Samay Ek Shabd Bhar Nahin Hai
Author
Category, , ,
Language
Pages 84
Quality Good
Size 1 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : घर छोड़ कर वह सीधा देश की राजधानी में पहुंचा था। राजधानी, जिसे कब्जे में करने की लड़ाई नक्सलवादी से शुरू होकर जेलों और जंगलों में पहुँचकर स्थगित हो गयी थी। और जिस लड़ाई के बड़े-बड़े मूरमा हरिद्वार और ऋषिकेश अध्यात्मवादी हो गए थे या फिर कांग्रेस के झंडे तले आकर……

Pustak Ka Vivaran : Ghar Chhod kar vah Seedha desh kee Rajdhani mein pahuncha tha. Rajdhani, Jise kabje mein karane kee ladai Naksalavadi se shuroo hokar jelon aur jangalon mein pahunchakar sthagit ho gayi thee. Aur jis ladai ke bade-bade Moorama Haridvar aur Rishikesh Adhyatmavadi ho gaye the ya phir Congress ke jhande tale Aakar…………

Description about eBook : Leaving home, he reached the capital of the country directly. The battle to capture the capital, which started with the Naxalites, was postponed after reaching the jails and forests. And the battle of which the great Moorma Haridwar and Rishikesh had become spiritualists or under the flag of Congress …………

“मैं अपने जीवन में बार बार असफल रहा हूं। और मैं इसी कारण से सफल होता हूं।” ‐ मिशेल जोर्डन
“I have failed over and over again in my life. And that’s why I succeed.” ‐ Michael Jordan

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment